BKU प्रवक्ता राकेश टिकैत बीजेपी को बेच दिया किसान आंदोलन: चढूनी

नई दिल्ली। बीते 71 दिन से चल रहे किसान आंदोलन का पूरी तरह से राजनीतिकरण हो गया है। एक ओर जहां तमाम विपक्षी दलों के नेता किसी न किसी बहाने इस आंदोलन के मंच का इस्तेमाल कर अपनी सियासत चमकाने की कोशिशों में जुटे हैं तो भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरमान सिंह चढूनी ने एक वीडियो बयान जारी कर बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पर किसानों के आंदोलन को बीजेपी को बेचने का गंभीर आरोप लगाया है।

अपने बयान में चढूनी ने कहा है कि टिकैत भाजपा की गोद में बैठे हैं। उन्होंने अपने वीडियो बयान में यह भी कहा कि किसानों का आंदोलन आगे बढ़ रहा है पूरे देश के किसान साथ हो रहे हैं, लेकिन मैं इन नेताओं से कहना चाहूंगा कि किसानों के ऊपर रहम करे और इसको भेजने का प्रयास नहीं करें।

उन्होंने आरोप लगाया है कि राकेश टिकैत चाहते हैं कि सरकार केवल उनके साथ बात करें, यानी राकेश टिकट खुद को किसानों का सर्वमान्य एकमात्र नेता घोषित करना चाहते हैं, ताकि सरकार के साथ किसी भी तरह की सौदेबाजी वह कर सकें।

गौरतलब है कि इससे पहले 26 जनवरी को जब किसान आक्रोशित हो गए थे, और कुछ किसानों के द्वारा ट्रैक्टर लेकर लाल किले पर चढ़ाई कर दी गई थी तब 23 किसान संगठनों ने आंदोलन को वापस ले लिया था और अपने घर चले गए थे।

वीडियो बयान में गुरमान सिंह चढूनी ने यह भी आरोप लगाया है कि भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने उनके खिलाफ दो मुकदमे दर्ज करवाए हैं। साथ ही कहा कि हरियाणा के यूनियन के प्रधान भाजपा की गोद में बैठे हुए हैं।

यह भी पढ़ें :  योगी के गौ-प्रेम पर भी आंकड़ों की बाजीगरी