गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेता राकेश टिकैत को गिरफ्तार करने की तैयारी

नई दिल्ली। करीब 64 दिन से जारी किसान नेताओं की नेतागिरी बन्द होने की कगार पर है। दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस की संयुक्त टीम के द्वारा कार्रवाई करने की तैयारी हो गई है।

गाजीपुर बॉर्डर पर धारा 144 और धारा 133 लगा दी गई है। इधर, भाकीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत धरने से हटने को राजी नहीं हैं। करीब 2 घंटे पहले टिकैत ने धरना खत्म करने की घोषणा की थी, पर बाद में पलट गए।

उन्होंने कहा कि हमारे को सूचना मिली है कि उत्तर प्रदेश के एक भाजपा नेता अपने गुंडों के साथ आने वाले हैं, जिसके बाद टिकैत फिर वहीं धरने पर अड़ गए। पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग बन्द करने के बाद अब आज आधी रात को आंदोलन खत्म होने की संभावना है।

राकेश टिकैत ने मंच से साफ कर दिया कि वह ना तो धरना खत्म करेंगे, चाहे गोली चल जाये या उनको फांसी लगानी पड़े। टिकैत ने रोते हुए कहा कि किसानों को सरकार मारना चाहती है। उन्होंने कहा कि अगर कानून वापस नहीं होगा तो वह आत्महत्या कर लेंगे। उन्होंने यह भी दावा किया कि किसानों को बर्बाद किया जा रहा है।

इस वक्त मंच पर पुलिस ने शिकंजा कस लिया है। ऐसा माना जा रहा है कि कुछ ही देर में राकेश टिकैत और अन्य किसान नेताओं की गिरफ्तारी होगी। इससे पहले दो किसान संगठन इस आंदोलन से खुद को अलग कर किसान नेता वापस अपने घर लौट गए हैं।

यह भी पढ़ें :  प्रियंका चोपड़ा की शादी के फोटोग्राफ्स इतने में बिके हैं, जितनी उनकी फिल्म फीस नहीं है