किसानों के साथ बातचीत का निकला नतीजा, कमेटी करेगी फैसला

नई दिल्ली। लगातार पांचवें दिन दिल्ली के बाहर पंजाब और हरियाणा के नेशनल हाईवे को बंद करके आंदोलन कर रहे किसानों के साथ आज नरेंद्र मोदी सरकार की बातचीत हुई।

हालांकि, बातचीत 100% नतीजा नहीं निकला, लेकिन फिर भी सकारात्मक बातचीत के चलते केंद्र सरकार के द्वारा एक कमेटी का गठन करने का फैसला किया गया है, जो किसानों की सभी मांगों के ऊपर काम करेगी।

पंजाब के 32 किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के द्वारा आज केंद्र के कृषि मंत्री, गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के समक्ष विज्ञान भवन में मुलाकात हुई। काफी लंबी चर्चा के बाद भी किसान सो प्रतिशत संतुष्ट नहीं हो पाए हैं।

किसानों की समस्याओं को लेकर, जिन तीन कृषि बिलों को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं, उन सभी पर विचार विमर्श करने और उनका समाधान करने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा और वह कमेटी किसानों की समस्याओं का समाधान करेगी।

करीब 2 महीने पहले केंद्र सरकार के द्वारा कृषि सुधारों के लिए बनाए गए 3 कानूनों को लेकर किसान नाराज हैं, खासतौर से पंजाब के किसान लगातार पहले रेल की पटरियों पर बैठे हुए थे और बीते 5 दिन से दिल्ली के बाहर बैठे हुए हैं। यहां पर किसानों का आंदोलन अनवरत जारी है।

यह भी पढ़ें :  वसुंधरा के धुर विरोधी मानवेंद्र सिंह और तिवाड़ी की भाजपा में वापसी की तैयारी