आज होगी Farmers की Narendra modi सरकार से साथ वार्ता!

famers movement

नई दिल्ली।
बीते पांच दिन से सिंधु बॉर्डर (Sindhu Border) और टिकरी (Tikari) में हाइवे पर बैठे किसानों की आज शाम को केंद्र सरकार (PM Modi govt) के साथ वार्ता हो सकती है। सोमवार देर रात केंद्रीय कृषि मंत्रालय (Agriculture ministry)   की ओर से सचिव संजय अग्रवाल (IAS Sanjay agrwal) ने एक पत्र ​पंजाब और हरियाणा के 32 किसान संगठनों को लिखा है, जिसमें मंगलवार दोपहर बाद विज्ञान भवन में वार्ता के लिये बुलाया है।

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda), केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (amit shah) और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बीच हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है। हालांकि, किसानों ने कहा है कि आज सुबह इसको लेकर संगठनों की बैठक होगी और उसके बाद फैसला किया जाएगा।

इससे पहले अमित शाह ने 3 दिसंबर को किसानों को बुलाया था, हालांकि उन्होंने कहा था कि किसान बुराडी पार्क में आ जाएं जहां पर सभी सुविधाएं मौजूद हैं। उन्होंने कहा था कि जिस दिन किसान बुराडी मैदान में पहुंच जाएंगे, उसके अगले ही दिन सरकार किसानों बातचीत करने को तैयार है।

जबकि सरकार के इस निमंत्रण को ठुकरा दिया था, किसानों ने कहा था कि बिना शर्त के बातचीत करने को सरकार तैयार होगी, तो ही किसान बात करेंगे, बुराडी के मैदान में किसान नहीं जाएंगे।

तीन कृषि बिलों को किसान हितैषी बताते हुये मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र काशी से कहा कि विपक्ष किसानों को बरगलाने का काम कर रहा है और किसानों को अपने हित में इन लोगों की बातों से बचकर रहना चाहिये।

यह भी पढ़ें :  जनता ने राजभवन घेर लिया तो हमारी जिम्मेदारी नहीं, हाईकोर्ट के आदेश के बाद राजस्थान में फिर गर्माया सियासी पारा

बातचीत करने का न्यौता तब आया है जब किसानों ने सरकार को चेतावनी देने हुये कहा था कि या तो मोदी सरकार किसानों की ‘मन की बात’ को सुने या फिर बड़ी कीमत चुकाने को तैयार रहे।