22 C
Jaipur
शुक्रवार, नवम्बर 27, 2020

चौथी कट ऑफ लिस्ट से पहले ही फुल दिल्ली विश्वविद्यालय की कई सीटें

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 1 नवंबर (आईएएनएस)। दिल्ली विश्वविद्यालय के कई पाठ्यक्रमों में दाखिला प्रक्रिया को बंद कर दिया गया है। वहीं दिल्ली यूनिवर्सिटी ने चौथी कट ऑफ लिस्ट जारी कर दी है। इस बार कट-ऑफ में एक से दो प्रतिशत की कमी की गई है। दिल्ली विश्वविद्यालय में विभिन्न अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों की 64 प्रतिशत सीटें पहले ही फुल हो चुकी हैं।
दिल्ली विश्वविद्यालय ने आधिकारिक जानकारी देते हुए कहा, चौथी कट-ऑफ सूची के तहत प्रवेश दो नवंबर से शुरू होगा। विश्वविद्यालय की 70,000 सीटों में से अब तक 45,542 सीटें भर चुकी हैं। इन 70 हजार में से 55,000 से अधिक सीटों पर नामांकन हुआ था, लेकिन दाखिला रद्द होने और वापस लेने के बाद यह संख्या अब 45,542 है।

चौथी कट-ऑफ सूची में कई पाठ्यक्रमों में दाखिला विभिन्न श्रेणियों के लिए बंद कर दिया गया है। इस वर्ष, कोरोना वायरस महामारी के कारण दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन चल रही है।

- Advertisement -चौथी कट ऑफ लिस्ट से पहले ही फुल दिल्ली विश्वविद्यालय की कई सीटें 2

वहीं दिल्ली विश्वविद्यालय में शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए संशोधित पोस्ट ग्रेजुएशन के एंट्रेंस और मेरिट आधारित एडमिशन इस वर्ष दिसंबर तक पूरे किए जा सकेंगे। दिसंबर में दाखिला प्रक्रिया पूरी होने के उपरांत नए सत्र की कक्षाएं प्रारंभ हो सकेंगी

दिल्ली विश्वविद्यालय में पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के लिए पहली मेरिट लिस्ट दीपावली के बाद जारी की जाएंगी। एडमिशन लेने के इच्छुक छात्र 18 नवंबर से 20 नवंबर के बीच पहली मेरिट लिस्ट के आधार पर अपने पसंदीदा पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं।

दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा, एंट्रेंस बेस्ड पीजी पाठ्यक्रमों के लिए पहली मेरिट लिस्ट दीपावली के बाद जारी की जाएंगी और छात्र 23 नवंबर तक एडमिशन फीस भर कर दाखिला ले सकते हैं। दाखिला प्रक्रिया पूरी होने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय इस वर्ष दिसंबर से पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों के लिए कक्षाएं शुरू कर सकता है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के मौजूदा शैक्षिक सत्र 2020-21 में दाखिला लेने वाले, दिल्ली से बाहर के छात्र हॉस्टल को लेकर भी चिंतत हैं। ऐसे छात्र लगातार दिल्ली विश्वविद्यालय से पूछ रहे है कि दाखिला के बाद क्या उन्हें हॉस्टल (छात्रावास) की सुविधा मिल सकेगी। कोरोना के चलते हॉस्टल को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय ने अभी तक कोई स्पष्ट नीति तय नहीं की है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में अभी तक यह भी तय नहीं है कि दाखिला लेने के बाद कॉलेज खुलेंगे या नहीं। फस्र्ट ईयर के दाखिला के बाद अगर कॉलेज खुलते हैं तो हॉस्टल लेने की प्रक्रिया में भी काफी समय लगेगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हंसराज ने कहा, डीयू द्वारा हॉस्टल नीति स्पष्ट न किए जाने पर दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन (डीटीए) ने चिंता जताई है। टीचर्स एसोसिएशन ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग की है कि वह कॉलेजों को इस संदर्भ में जल्द ही सर्कुलर जारी करे।

–आईएएनएस

जीसीबी/आरएचए

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
चौथी कट ऑफ लिस्ट से पहले ही फुल दिल्ली विश्वविद्यालय की कई सीटें 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

अशोक गहलोत बतायें कि सरकार बचाने के लिए विधायकों को क्या-क्या प्रलोभन दिये: डाॅ. पूनियां

-हर मोर्चे पर विफल साबित हुई गहलोत सरकार अपने बोझ और कर्मों से ही गिरेगी। मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा कोरोना प्रबन्धन, अपराधों पर...
- Advertisement -

अशोक गहलोत बतायें कि सरकार बचाने के लिए विधायकों को क्या-क्या प्रलोभन दिये: डाॅ. पूनियां

-हर मोर्चे पर विफल साबित हुई गहलोत सरकार अपने बोझ और कर्मों से ही गिरेगी। मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा कोरोना प्रबन्धन, अपराधों पर...

राजस्थान के मंत्रियों के सामने “नो मास्क- नो एंट्री” मात्र एक स्लोगन

-भाजपा मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने सरकार से कोविड-19 में लापरवाही से हो रही मौतों पर अंकुश लगाने की मांग

Video: 10-10 करोड़ में बिके BTP के विधायक, गहलोत के खास विधायक ने लगाये आरोप

Jaipur. जुलाई और अगस्त के महीने में जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच राजनीतिक युद्ध शुरू...

Related news

Video: 10-10 करोड़ में बिके BTP के विधायक, गहलोत के खास विधायक ने लगाये आरोप

Jaipur. जुलाई और अगस्त के महीने में जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच राजनीतिक युद्ध शुरू...

विश्लेषण: किसानों पर water cannon से बौछार कितनी सही, कितनी खतरनाक?

रामगोपाल जाट केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (pm narendra modi govt) द्वारा दो माह पहले संसद में पारित किए...

आशादीप बिल्डर की ठगी के शिकार किंग्सकोर्ट निवासी लामबंद हुए

- RERA में ढेरों शिकायतें दर्ज, कुछ कंजूमर कोर्ट की शरण में - बिल्डर को बचाने में जुटे कई रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, एक ब्यूरोक्रेट ने...

Love jihaad के खिलाफ अध्यादेश और अयोध्या का हवाईअड्डा भगवान राम के नाम पर

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi adityanath) ने लव जिहाद (Love jihaad) के खिलाफ सख्ती करने का कानून बनाने का निर्णय लिया है। योगी कैबिनेट...
- Advertisement -