22 C
Jaipur
सोमवार, अक्टूबर 26, 2020

दो वकील, दो केस, एक नियति (आईएएनएस स्पेशल)

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। कोई इसे संयोग कह रहा है, कोई इसे नियति कह रहा है, लेकिन दोनों इसे अपने लिए एक जॉब कह रहे हैं।
दो वकील, जिन्होंने दिल्ली में निर्भया केस लड़ा था। अब हाथरस केस में भी एक-दूसरे के आमने-सामने हैं।

सीमा कुशवाहा, जिन्होंने निर्भया केस में पीड़िता के परिवार की तरफ से केस लड़ा। अब हाथरस पीड़ित परिवार की वकील हैं।

- Advertisement -satish poonia

कुश्वाहा ने आईएएनएस से रविवार को कहा, एक वकील के तौर पर काम करने के अलावा, मैं समाजसेवा भी करती हूं। मुझे 26 सितंबर को घटना की जानकारी मिली और तब से मैं परिवार के संपर्क में हूं। मैं 29 सिंतबर को पीड़िता के पास गई थी, लेकिन दुर्भाग्यवश, मेरे मिलने से पहले ही पीड़िता की मौत हो गई। मैं हाथरस पीड़िता के परिवार के संपर्क में हूं।

इस संयोग के बारे में पूछे जाने के बाद कि वह उसी वकील के खिलाफ केस लड़ेगी, जिसके खिलाफ उन्होंने निर्भया मामले में केस लड़ा था।

सीमा ने कहा, संयोग यह है कि मैं पीड़ितों खासकर के महिलाओं के केस अपने हाथ में लेती हूं। वह पुरुषों के समर्थन में केस लड़ते हैं। यह जेंडर का मामला है।

चारों आरोपियों के लिए केस लड़ने वाले वकील ए.पी. सिंह ने पत्रकारों से कहा कि उनका काम उनके क्लाइंट के लिए लड़ना है और यह सुनिश्चित करना है कि निर्दोष लोगों को सजा न मिले। ए.पी. सिंह ने यह केस अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के आग्रह के बाद अपने हाथ में लिया है। चारो आरोपी ठाकुर समुदाय के हैं।

ए.पी. सिंह ने इससे पहले निर्भया के आरोपियों और बाबा राम रहीम का बचाव किया है और अब हाथरस केस में कथित आरोपियों की तरफ से केस लड़ेंगे।

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि वह महज लोकप्रियता हासिल करने के लिए विवादास्पद केस अपने हाथ में लेते हैं।

उन्होंने कहा, जब तक कोर्ट में सिद्ध नहीं हो जाता, कोई आरोपी नहीं है। मैं यह निर्णय करने वाला कोई नहीं हूं कि क्या सही है और क्या गलत है। मैं केवल अपना काम करता हूं।

सीमा कुश्ववाहा से कोर्ट में एक बार फिर सामना होने पर सिंह ने कहा, यह अच्छा है कि हम दोनों एक बार फिर अपने तथ्यों को पेश करेंगे। वह मेरी छोटी बहन जैसी है।

वहीं सीमा ने कहा कि कोर्ट में मामले की सुनवाई दिल्ली में करने को लेकर अपील करेंगी। वहीं उन्होंने कहा कि परिवार भी यही चाहता है।

–आईएएनएस

आरएचए/एसकेपी

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
दो वकील, दो केस, एक नियति (आईएएनएस स्पेशल) 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

पडिकल की तकनीक हेडन की तरह : मौरिस

दुबई, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के बल्लेबाज देवदत्त पडिकल की तकनीक आस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन के समान है। यह कहना है बेंगलोर...
- Advertisement -

आईपीएल-13 : चेन्नई ने बेंगलोर को 8 विकेट से हराया

दुबई, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। चेन्नई सुपर किंग्स ने रविवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-13 के 44वें मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर...

मप्र को कलंकित करने में जुटी भाजपा : कमल नाथ

भोपाल, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के एक और विधायक ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद भाजपा का दामन थाम...

भारतीय सेना का 4 दिवसीय कमांडर्स कांफ्रेंस सोमवार से

नई दिल्ली, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीन से सीमा विवाद के बीच भारतीय सेना सोमवार से शुरू हो रहे चार दिवसीय कमांडरों के सम्मेलन का...

Related news

सरकार को 10 दिन समय, बेरोजगार फिर आंदोलन की राह तलाशेंगे: यादव

-अधिकारियों की तानाशाही और मंत्रियों की लापरवाही को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने आंदोलन की दी चेतावनी, सरकार को दिया 10...

भाजपा ने बागियों के खिलाफ लिया एक्शन, कांग्रेस क्यों पीछे हटी?

जयपुर। जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगमों के लिए चुनाव की तैयारियां भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस दोनों के द्वारा...

आईपीएल-13 : मुम्बई ने चेन्नई को 10 विकेट से हराया

शारजाह, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। मुम्बई इंडियंस ने शुक्रवार को यहां खेले गए आईपीएल के 13वें सीजन के 41वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को...

कांग्रेस नहीं बना पाई प्रदेश कार्यालय, भाजपा ने उससे बड़े जिला कार्यालय बना दिये

जयपुर। कांग्रेस पार्टी भले ही करीब 55 साल तक राजस्थान की सत्ता पर राज करती रही हो, लेकिन आज तक भी कांग्रेस...
- Advertisement -