नई दिल्ली।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर तमाम सर्वे नकारते हुए 2014 में तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोधी रहे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने का दावा किया है।

जनसंवाद कार्यक्रम में बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा है कि विपक्ष के पास कोई दूसरा उम्मीदवार नहीं है। ऐसे में केवल एक ही विकल्प है और वह है नरेंद्र मोदी, जिनके सामने पूरा महागठबंधन टिक नहीं सकता।

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की हार को लेकर जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि मध्यप्रदेश में भाजपा ने 4% अधिक वोट हासिल किया है। जबकि राजस्थान में केवल .4% वोट कब मिलने के कारण बीजेपी सत्ता से बाहर हुई है, इसका मतलब यह नहीं है कि जनता ने कांग्रेस को जिताया है।

इस मौके पर नीतीश कुमार ने कई सवालों का बेबाकी से जवाब दिया। उन्होंने यह भी कहा कि महागठबंधन में जिस तरह से रोड चलते दल शामिल हो रहे हैं, उससे पता चलता है कि यह गठबंधन किस स्तर का हो रहा है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जो कि कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कट्टर विरोधी हुआ करते थे। उन्होंने कहा कि देश में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बनेगी, और उसके नेता होंगे नरेंद्र मोदी।