-एमएनआईटी में आज छटे दिन भी धरना जारी।

राजधानी जयपुर में ही अचानक से 120 कर्मचारियों के परिवारों को दो वक्त की रोटी के लाले पड़ गए हैं। लगातार 20 साल से नौकरी कर रहे इन कर्मचारियों को मालवीय नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MNIT) ने निकाल दिया है।

ये सभी कर्मचारी अब यहां एमएनआईटी परिसर के बाहर लगातार 8 दिन से धरने पर बैठे हैं, और संस्थान या सरकार की ओर से सुनवाई करने वाला ही नहीं है।

जानकारी के अनुसार 26 जुलाई 2019 को 18-20 साल से कार्यरत 120 सफाई कर्मचारियों को ठेकेदार और एमएनआईटी प्रसासन द्वारा बिना कोई नोटिस, छंटनी मुवावजा वेतन दिये बगैर गैर कानूनी तरीके से हटा दिया गया है, जिसके चलते तमाम सफाई लोगों पर रोज़ी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

तमाम सफाई कर्मचारी सीआईटीयू, (CITU) के बेनर तले 30 जुलाई 2019 से हटाये गये सभी 120 सफाई कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे हैं।

सीआईटीयू (CITU) बेनर तले धरने पर बैठे कर्मचारियों ने कहा है कि जब तक हटाये गये सभी 120 सफाई कर्मचारियों को काम पर नहीं लिया जाता, तब तक धरना जारी रहेगा।

कर्मचारियों ने 3 अगस्त 2019 को कैंडल मार्च निकाल कर विरोध किया। इसके बाद 5 अगस्त 2019 तमाम 120 सफाई कर्मचारी सुबह 11:00 बजे एकल श्रंखला बना कर विरोध प्रकट किया।

अभी भी प्रशासन व ठेकेदार द्वारा हटाये गये 120 सफाई कर्मचारी को काम पर नहीं लिया जाता है, तो आगे की रणनीति बनाकर आन्दोलन को तेज किया जायेगा।

सूबे सिंह का कहना है कि इस दौरान अनशन किये, प्रदर्शन किए जाएंगे, जिसकी समस्त जिम्मेदारी एमएनआईटी प्रसासन, सरकारी प्रशासन और ठेकेदार की होगी।