pm narendra modi mission shakti
pm narendra modi mission shakti

नई दिल्ली।

जब सुबह करीब 11 बजे पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर देश के नाम संदेश देने की बात कही तो केवल भारत ही नहीं, बल्कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और चीन की हालत उनके टीवी चैनल और अखबारों ने बयां की है।

यहां तक कहा जा रहा है कि पाक ने चीन से फिर सेटेलाइट की सहायता मांगी थी, लेकिन उसने फिर से इनकार कर दिया। खैर! जब मोदी का ट्वीट आया तो अगले 3 घंटे तक गूगल और ट्वीटर ट्रेंड में केवल मोदी रहे।

भारत में लोग बैंकों की तरफ दौड़े, कुछ लोगों ने मसूद अजहर को पकड़ने, कुछ ने दाऊद इब्राहिम को जकड़ने, कुछ ने कोई बड़ी घोषणा करने की कयासबाजी लगाई।

बताया जाता है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के द्वारा अपने सेना अध्यक्ष के साथ एक बेहद उच्च स्तरीय सुरक्षा बैठक की गई और चाइना से संपर्क साध कर सुरक्षा संबंधी मसलों पर बात की गई।

दूसरी तरफ चाइना के द्वारा अपनी सीमाओं पर सेटेलाइट से निगरानी बढ़ाई गई। इतना ही नहीं यह भी कहा जा रहा है कि चाइना के निर्देश के बाद पाकिस्तान ने मसूद अजहर समेत भारत के मोस्टवांटेड तीनों आतंकी सरगना के बारे में जानकारी जुटाई गई।

उस 1 घंटे के दरमियान भारत में खबर आग की तरह फैली लोग एटीएम के बाहर लाइनों में दिखाई दिए कुछ नए 2000 के नोट को बैंक में डालना भी मुनासिब समझ लिया।

हालांकि, यह सूचना केवल टेलीविजन और सोशल मीडिया से जुड़े लोगों तक ही पहुंची, लेकिन उस एक बेहद तनावपूर्ण समय के दौरान पूरी दुनिया की नजर भारत पर हो गई।

राष्ट्र के नाम संबोधन के नाम से ही पूरा देश ही नहीं अधिकांश दुनिया के देश में भारत के तरफ टकटकी नजर से देखते रहे।

जब 12:15 बजे के करीब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टेलीविजन पर आए, तब टेलीविजन चैनल की टीआरपी सर्वाधिक देखी गई।

तमाम लोग टीवी चैनल, रेडियो और सोशल मीडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा को लेकर इंतजार करते हुए देखे गए।

एक एक बात को लोगों ने बिना कोई रोक-टोक के सुना। जब पीएम मोदी ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारत ने आज एक विशेष उपलब्धि हासिल करते हुए अंतरिक्ष में दुनिया की चौथी महाशक्ति बन गया है, तब लोगों ने राहत की सांस ली।

पीएम मोदी ने बताया कि भारत ने अंतरिक्ष में लो अर्थ आर्बिट में 300 किलोमीटर ऊपर एंटी सैटेलाइट मिसाइल के द्वारा उपग्रह को मार गिराया गया, तब नए केवल पूरे देश ने तालियां बजाई बल्कि देश की इस महान उपलब्धि पर गर्व से खुशी जाहिर की।

हालांकि, इसके बाद भी लोगों की आत्मकथा आकांक्षा शांत नहीं हुई, वरन तरह तरह से कयासबाजी लगाई जाने लगी। आलम यह था कि ट्विटर पर अगले 3 घंटे तक केवल भारत और पीएम मोदी ट्रेंड कर रहे थे।

कुछ लोगों ने पाकिस्तान और चाइना के द्वारा अवैध सेटेलाइट छोड़े जाने और उसको अंतरिक्ष में भारत के द्वारा मारे जाने की आशंका भी व्यक्त की, लेकिन अंततः यह बात साफ हुई कि भारत ने केवल परीक्षण के तौर पर अपना ही छोड़ा हुआ सैटेलाइट उड़ाया था।