sheela jat rbse 10th toper with her mother bimala
sheela jat rbse 10th toper with her mother bimala

जयपुर।

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान (Madhyamik Shiksha Board Rajasthan) की 10 वीं कक्षा के परिणाम में अनपढ़ दूध वाले की बेटी शीला जाट ने 99.17 परसेंट अंक हासिल करते हुए मेरिट में दूसरा स्थान हासिल किया।

इस परिणाम में पहले स्थान पर दौसा जिले के गीजगढ़ कस्बे में रहने वाले छात्र हितेश शर्मा ने 600 में से 506 में नंबर लाकर 99.33 पर्सेंट अंक हासिल किए हैं।

इसी तरह झुंझुनू जिले के सिंघाना के रहने वाले कौशल ने 600 में से 595 अंकों के साथ शीला जाट के साथ दूसरों का मासिक किया है।

आपको बता दें कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के द्वारा सोमवार को 4:00 बजे दसवीं कक्षा का रिजल्ट जारी किया गया।

इस परीक्षा में कुल 1098000 से ज्यादा छात्र बैठे थे, जिसमें से 8.76 लाख से ज्यादा छात्र छात्राएं पास हुए हैं। जिनमें से 81000 पूरक रहे हैं।

जबकि 24000 से ज्यादा विद्यार्थी अनुपस्थित रहे, 406000 से ज्यादा छात्र छात्राएं द्वितीय श्रेणी से पास हुए हैं।

337000 विद्यार्थी प्रथम स्थान प्राप्त करने में सफल हुए हैं, जबकि 133000 छात्र-छात्राएं तृतीय श्रेणी से पास हुए हैं।

जयपुर के दूधवाले मोहनलाल के घर में पैदा हुई शीला जाट और उनकी मां विमला दोनों का सपना है कि शीला डॉक्टर या वैज्ञानिक बने।

शीला जाट खुद भी डॉक्टर या वैज्ञानिक बनना चाहती हैं, वह रोज सुबह 3:00 बजे उठकर पढ़ाई करती थी और उनके घर में आज भी कोई स्मार्टफोन नहीं है।

उनके पिता मोहनलाल पूरी तरह अनपढ़ हैं, जबकि मां विमला भी निरक्षर हैं। उनके घर में आज भी पक्की छत नहीं है।

मुरलीपुरा में रहने वाली शीला जाट केवल स्कूल और किताबों के सहारे टॉप करने में कामयाब रही हैं।