#Metoo: किस तरह फैला भारत में यह अभियान-

94
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

नई दिल्ली।

भारत में इन दिनों महिलाओं के द्वारा छेड़खानी को लेकर एक बड़ा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। #metoo नाम से चले इस अभियान में अब तक कई बड़ी हस्तियों का नाम सामने आ चुका है।

शुरुआत में बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा नाना पाटेकर पर 10 साल पहले उन को टच करने को लेकर किए गए रहस्य उद्घाटन के बाद मामला तूल पकड़ता जा रहा है।

ताजा प्रकरण आज बीसीसीआई के चेयरमैन के ऊपर एक महिला पत्रकार द्वारा लगाया गया आरोप सोशल मीडिया पर छाया हुआ है।

इससे पहले मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर 13 से अधिक महिलाओं ने उनके साथ छेड़खानी करने, रेप का प्रयास करने, दुष्कर्म की कोशिश करने और शारीरिक शोषण करने की गंभीर आरोप लगाए हैं।

बॉलीवुड में इस अभियान को लेकर तूफान मचा हुआ है बॉलीवुड के सुपरस्टार अक्षय कुमार इस मामले को लेकर हाउसफुल-4 फिल्म से दूर हट चुके हैं, उसके निर्देशक भी फिल्म से बाहर कर दिए गए बताए जा रहे हैं।

आइए आपको बताते हैं कि यह अभियान कहां से, कैसे और कब शुरू हुआ इस अभियान को लेकर आगे क्या होने की संभावना है-

अमेरिका में हॉलीवुड अभिनेत्रियों द्वारा इस अभियान की शुरुआत की गई थी, लंबे समय तक यह अभियान हॉलीवुड ने ही चलता रहा।

लेकिन पिछले दिनों तनुश्री दत्ता द्वारा नाना पाटेकर पर लगाए गए आरोप के बाद अब भारत में यह वायरस की तरह फैल चुका है।

इस अभियान के तहत हर रोज कई महिलाएं जानीमानी बड़ी-बड़ी हस्तियों पर उनके हरासमेंट को लेकर आरोप लगाकर सामने आ रही है।

हालांकि अभी तक यह कहना कठिन है कि अभियान कब तक चलेगा, लेकिन जिस तरह से तूल पकड़ रहा है उसे साफ जाहिर है, कि आने वाले दिनों में केंद्र सरकार के एक मंत्री की कुर्सी जा सकती है।

ऐसी खबरों के लिए हमारे साथ बने रहिए। सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमें आप Paytm नं. 9828999333 पर आर्थिक मदद भी कर सकते हैं।