Kejariwal mamata

नई दिल्ली।

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी भारी तनाव के दौरान भारत के राजनेताओं के द्वारा पाकिस्तान की मौज कर दी गई है।

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को धन्यवाद देने के बाद भारत एक बार फिर से कूटनीतिक रूप से बैकफुट पर आ चुका है।

महबूबा, ममता, केजरीवाल, दिग्विजय ने कर दी पाकिस्तान की मौज....मोदी को चुकानी होगी बड़ी कीमत 1

भारतीय राजनेताओं के द्वारा अपनी ही सरकार से वायु सेना के द्वारा की गई कार्रवाई के सबूत मांगने के कारण पड़ोसी मुल्क फायदे में नजर आ रहा है, तो दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा विश्व समुदाय के सामने भारत की जबरदस्त छवि पेश करने को भी करारा झटका लगा है।

माना जा रहा है कि इन नेताओं के बाद अब अन्य विपक्षी दलों के द्वारा भी सितंबर 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक की भांति ही भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के सबूत मांगे जाएंगे।

गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना ने 48 साल बाद पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश कर बम वर्षा की है। इससे पाकिस्तान स्थित आतंकवादी कैंप तहस-नहस हो गए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत के एयरक्राफ्ट के द्वारा पाकिस्तान के बाला कोर्ट ने डाले गए बम से करीब 300 आतंकवादी मारे गए हैं, लेकिन पाकिस्तान इस बात को कभी स्वीकार नहीं करता है।

भारत की विपक्षी पार्टियों के द्वारा जिस तरह से प्रधानमंत्री मोदी पर ताबड़तोड़ हमले किए जा रहे हैं। उससे एक बात बिल्कुल साफ हो गई है कि देश की सुरक्षा को लेकर भी राजनीतिक पार्टियां सरकार के साथ खड़ी नजर नहीं आ रही है।

जबकि भारत सरकार ने देश की तीनों सेनाओं को फ्री हैंड दे रखा है। इसी का नतीजा है कि 48 साल में पहली बार भारत की वायु सेना ने पाकिस्तान की सरहदों को लाकर एयर स्ट्राइक की है।

भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की तरफ से आए 24 f-16 विमानों को खदेड़ने के दौरान भारत के मिग 21 के गिरने और उसके साथ पाकिस्तान की सीमा में विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान की गिरफ्त में जाने के कारण भारत को कूटनीतिक प्रयास करने पड़े। आखिरकार केवल 48 घंटे के भीतर पाकिस्तान को भारत का फाइटर पायलट अभिनंदन छोड़ना पड़ा।

अरविंद केजरीवाल के द्वारा दिल्ली विधानसभा के भीतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूरे मामले के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया गया। केजरीवाल ने तो यहां तक कह दिया कि मोदी चुनाव जीतने के लिए सेना के जवानों के खून से खेल रहे हैं।

इधर, महबूबा मुफ्ती ने भारत की एयर स्ट्राइक को गैर जिम्मेदाराना ठहराते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चुनाव जीतने के लिए पुलवामा का नाटक कर रहे हैं, उन्होंने सीमा पर तनाव पैदा किया है। महबूबा ने तो यहां तक कह दिया कि एयर स्ट्राइक गलत है, चाहे उसको देशद्रोही करार दे दिया जाए।

महबूबा, ममता, केजरीवाल, दिग्विजय ने कर दी पाकिस्तान की मौज....मोदी को चुकानी होगी बड़ी कीमत 2

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि यदि एयर स्ट्राइक की गई है तो मोदी बताएं कितने आतंकवादी मारे और कौन-कौन सी जगह बम डाले गए?

ममता बनर्जी ने कहा कि लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, इसलिए नरेंद्र मोदी युद्ध और सीमा पर तनाव के लिए यह सारी नाटकबाजी कर रहे हैं।

इसके साथ ही आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी उनके सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि जब चुनाव नजदीक हो और इस तरह की कार्रवाई हो तो सवाल उठना लाजमी है।

उन्होंने मोदी से कहा कि इस जमाने में, जबकि अत्याधुनिक तकनीक है और यदि कार्रवाई की गई है तो जो सबूत मांग रहे हैं, उनको सबूत दे देना चाहिए। छिपाने की कोई बात नहीं है।