nationaldunia

-संसदीय परम्पराओं को ताक पर रखकर निवर्तमान विधानसभा अध्यक्ष ने किए ग़लत तरीके से विधायकों को आवास आवंटित।

Jaipur.

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी से खिंवसर के विधायक हनुमान बेनीवाल ने निवर्तमान विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल पर भ्रष्टाचार करके संसदीय परम्पराओं को तार- तार करके आवास आवंटित करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा की मेघवाल ने विधानसभा अध्यक्ष के पद पर रहते हुए सदन मे कई बार सदन की गरिमा को तार- तार करते हुए सदस्यों को अपशब्द कहे और जिस संवेधानिक पद से विधानसभा मे प्रत्येक विधायक को निष्पक्षता की उम्मीद रहती है, उसी पद का कैलाश मेघवाल ने दुरुपयोग किया

हनुमान बेनीवाल ने कहा की विधासभा मे गृह समिति का कार्य विधायकों को आवास आवंटित करने का होता है, मगर निवर्तमान अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने सदन के नियमो के विरुद्ध और मनमर्ज़ी से आवास आवंटित करके विधानसभा मे बनने वाली गृह समिति के अधिकारो को बनने से पूर्व ही तार- तार कर दिया।

उन्होंने कहा की इस प्रकार पद से जाते-जाते और 12 दिसम्बर को राज्यपाल द्वारा 14 वी विधानसभा को भंग करने के बावजूद और राज्यपाल के आदेशों की धज्जिया उड़ाते हुए जो आवास आवंटित किए हैं।

उन्होंने कहा कि उस प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच करते हुए राज्यपाल व वर्तमान सरकार को निवर्तमान अध्यक्ष के खिलाफ आपराधिक मुक़दमा दर्ज करना चाहिए, ताकि विधायका के नियमों की धज्जियां उड़ाने वालों को सबक मिल सके।

बेनीवाल ने बताया कि राजस्थान विधानसभा के नव- निर्वाचित विधायकों को जो प्रथम बार चुनकर आए उनके आवास के लिए सरकारी मद से करोडों रुपये खर्च करके 11 जनवरी 2019 तक आवास आवंटित होने से पूर्व सर्किट हाउस, चंबल गेस्ट हाउस, ओटीएस सहित कई स्थानों पर रहने की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि उसके बावजूद निवर्तमान अध्यक्ष द्वारा बिना कोई संवेधानिक अधिकार के आवास आवंटित करने की जल्दबाज़ी मे अपने आप में एक सवाल कैलाश मेघवाल पर सवालिया निशान खड़ा करता है।