जयपुर।
कांग्रेस में लोकसभा चुनाव हारने के बाद विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अशोक गहलोत द्वारा जोधपुर हार के लिए सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहराना महंगा पड़ता नजर आ रहा है।

दो दिन पहले ही सचिन पायलट पर हार की जिम्मेदारी थोपने वाले अशोक गहलोत को अब उन्हीं की पार्टी के विधायक आयना दिखाया है।

टोडाभीम से विधायक पृथ्वीराज मीणा ने कहा है कि राज्य में सत्ता के जिसके पास थी, हार की जिम्मेदारी भी उसी की होती है।

पीआर मीणा ने कहा कि सचिन पायलट को अगर मुख्यमंत्री बनाया होता तो राज्य में कांग्रेस की यह गत नहीं होती।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अपनी जड़ें कमजोर हो गई है, जनता से उनका जुड़ाव नहीं है।

कहा, कि अशोक गहलोत से राज्य में जाट, मीणा और गुर्जर बुरी तरह से नाराज हैं, इसलिए उनके नाम पर वोट ही नहीं मिलते, जिससे कांग्रेस हार गई।

इसके साथ ही पीआर मीणा ने कहा कि जोधपुर में हारने का मुख्य कारण जाट समाज है, जिसने इस बार
अशोक गहलोत को एक भी वोट नहीं दिया।

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी राजस्थान की सभी 25 सीटें 2014 में भी हार गई थी, और अब एक बार फिर से कांग्रेस को सभी 25 सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा है।

इससे पहले पीआर मीणा ने सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की बात भी पीसीसी में सबसे पहले उठाई थी। अब एक बार फिर उन्होंने चुनाव हारने का कारण पायलट को सीएम नहीं बनाना बताया है।