jaipur loksabha seat Nattionaldunia.com
jaipur loksabha seat Nattionaldunia.com

रामगोपाल जाट।
आधुनिक राजस्थान की राजधानी और कभी कछवाहा वंश की राजस्थली रही जयपुर लोकसभा सीट पर पूरे प्रदेश की नजर है। कांग्रेस पार्टी ने यहां से पूर्व मेयर ज्योति खंड़लेवाल को मैदान में उतारा है, तो भाजपा वर्तमान सांसद रामचरण बोहरा को एक बार फिर मौका दे रही है।

कभी जयपुर की महारानी गायत्री देव की सीट रही इस संसदीय क्षेत्र में 1952 से लेकर अब तक कांग्रेस पार्टी को केवल 3 बार जीत नसीब हुई है। जिसमें भी एक आजादी के बाद पहली बार हुए लोकसभा चुनाव की विजय शामिल है।

पिछले लोकसभा चुनाव, यानी 2014 के आम चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार रामचरण बोहरा रिकॉर्ड तोड़तोड़ करीब 5.40 लाख वोटों से जीतकर संसद पहुंचे थे। बीजेपी एक बार फिर से अपने पुराने उम्मीदवार बोहरा को नरेंद्र मोदी के भरोसे छोड़कर मैदान में उतर चुकी है।

आबादी के हिसाब से सबसे बड़ी सीट पर 3 बार कांग्रेस के अलावा, तीन बार ही स्वतंत्र पार्टी की उम्मीदवार गायत्री देवी जीतीं हैं। इसके अलावा 10 बार भाजपा जीतती रही है। यहां से 16 चुनाव में सबसे ज्यादा गिरधारी लाल भार्गव जीते हैं। उनको 1989 से लेकर 2004 तक जयपुर की जनता ने 6 बार जिताया है। यह है पूरा इतिहास—

पहली 1952—56, दौलत मल, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस।
दूसरी 1957—62, हरीशचन्द्र शर्मा, निर्दलीय
तीसरी 1962—67, गायत्री देवी, स्वतंत्र पार्टी
चौथी 1967—71, गायत्री देवी, स्वतंत्र पार्टी
पांचवी 1971—77, गायत्री देवी, स्वतंत्र पार्टी

छठी 1977—80, सतीशचन्द्र अग्रवाल, जनता पार्टी
सातवीं 1980—84, सतीशचन्द्र अग्रवाल, भारतीय जनता पार्टी
आठवीं 1984—89, नवल किशोर शर्मा, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आई)

नौवीं 1989—91, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी
दसवीं 1991—96, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी

ग्यारहवीं 1996—98, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी
बारहवी 1998—99, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी
तेरहवी 1999—04, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी

चौदहवीं 2004—09, गिरधारीलाल भार्गव, भारतीय जनता पार्टी
पंद्रहवीं 2009—2014, महेश जोशी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
सोलहवीं 2014—19, रामचरण बोहरा, भारतीय जनता पार्टी