sandeep dixit congress
sandeep dixit congress

नई दिल्ली।

भारत पाकिस्तान के बीच तनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी की मीटिंग में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा आतंकी सरगना मसूद अजहर को अजहर जी कहना पार्टी के लिए घातक साबित हो सकता है।

देशभर में राहुल गांधी के द्वारा इस तरह एक आतंकवादी को सम्मान देना और उसी भाषण में प्रधानमंत्री को चोर कहना जनता के गले नहीं उतर रहा है।

हालांकि, यह कोई पहली बार नहीं है कि राहुल गांधी और उनका दल प्रधानमंत्री को चोर और आतंकवादियों को सम्मान दिया हो।

इससे पहले भी पार्टी के नेताओं द्वारा ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी और सेना प्रमुख को गली का गुंडा कहा जा चुका है।

12 जनवरी 2017 को दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बेटे और कांग्रेस के नेता संदीप दीक्षित के द्वारा सेना प्रमुख को गली का गुंडा कहा गया था।

संदीप दीक्षित ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि सेना प्रमुख का व्यवहार ऐसे है जैसे कोई गली का गुंडा हो यह पहला मौका था।

जब भारत में किसी नेता के द्वारा सार्वजनिक तौर पर सेना प्रमुख को गली का गुंडा या अपशब्द कहे गए।

यह कहा था संदीप दीक्षित ने

संदीप दीक्षित ने कहा, ‘हमारी फौज जितनी सशक्त है, और जिस तरह सीमाओं की सुरक्षा करती है, जब भी पाकिस्तान वहां हरकत करता है। वो उसका जवाब देती है। वो सबको मालूम है। यह दूसरी बात है कि आज के प्रधानमंत्री, आज के लोग इस बात को ज्यादा जोर से चिल्लाते हैं।’

‘लेकिन हमारी सेना सशक्त है। हमने हमेशा सीमा पर पाकिस्तान को सशक्त जवाब दिया है। आज की बात नहीं यह पिछले 70 साल से चला आ रहा है।’

‘पाकिस्तान एक ही चीज कर सकता है कि जाकर इस तरह की हरकतें करे और ऊल जुलूल बयान दे। खराब तब लगता है, जब हमारे भी थल सेनाध्यक्ष एक सड़क के गुंडे की तरह बयान देते हैं।’

हालांकि संदीप दीक्षित नहीं बाद में अपने बयान को लेकर माफी मांग ली थी, लेकिन कांग्रेस की तरफ से इस पर ने तो माफी मांगी गई नहीं कोई दूसरा बयान दिया गया। इससे साबित होता है कि कांग्रेस के नेताओं की सोच क्या है।

यह कहा था दिग्विजय सिंह ने

साल 2011 में अमेरिकी सेना के द्वारा पाकिस्तान के एटमाबाद में ओसामा बिन लादेन को मार गिराए जाने के बाद कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने बयान दिया था। उन्होंने कहा था ‘ओसामा जी’ इतने सालों से पाकिस्तान की मिलिट्री एकेडमी के पास रह रहा था और किसी को इसकी भनक नहीं लगी। दिग्गिवजय सिंह के इस बयान के बाद उनकी काफी आलोचना की गई थी।

हालांकि, कल राहुल गांधी के द्वारा दिए गए बयान के बाद आज दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करके कहा है कि उनके द्वारा 2011 में व्यंग्यात्मक रूप से ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी कहा था, उसी तरह राहुल गांधी ने भी मसूद अजहर को व्यंग में मसूद अजहर जी कहा है।

यह कहा था कल राहुल गांधी ने

राहुल गांधी ने कांग्रेस की मीटिंग में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर कहा। साथ ही साथ उन्होंने कहा कि एनएसए अजीत डोभाल ने तब ‘मसूद अजहर जी’ को कंधार तक हवाई जहाज में छोड़ने का काम किया था।

राहुल गांधी ने कहा कि मसूद अजहर बीजेपी के द्वारा पाकिस्तान छोड़ा गया था। राहुल गांधी के बयान के बाद उनको सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है, तो बीजेपी भी हमलावर हो गई है।

सर्जिकल स्ट्राइक पर खूब उठाये सवाल

इससे पहले सितंबर 2016 में भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान में घुसकर की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस पार्टी ने खूब सवाल खड़े किए थे। उसके सबूत भी सरकार और सेना से मांगे गए थे। हालांकि, बाद में सेना ने इसके वीडियो जारी किए। इससे विवाद कुछ हद तक शांत हुआ था।

अभी 26 फरवरी 2019 को पाकिस्तान की सीमा में 80 किलोमीटर अंदर जाकर भारतीय वायु सेना के द्वारा बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक पर भी कांग्रेस ने सरकार से सबूत देने को कहा है। लगातार दोनों तरफ से हमले हो रहे हैं। कांग्रेस का कहना है कि सरकार बताएं, अगर एयरस्ट्राइक की है तो कितने आतंकी मारे हैं। इसे साफ है कि कांग्रेस पार्टी सेना के शौर्य को मानने को तैयार नहीं है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें।