Ips pankaj choudhary press conference
Ips pankaj choudhary press conference

जयपुर।

राजस्थान कैडर के पूर्व आईपीएस पंकज चौधरी ने आज लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया उन्होंने कहा कि पश्चिमी राजस्थान की 7 सीटों में से किसी एक संसदीय सीट से वह आम चुनाव में उतरने जा रहे हैं।

राज्य के पूर्व आईपीएस चौधरी का दावा है कि उन्होंने वर्ष 2011 से वर्ष 2018 के बीच कोटा, बांसवाड़ा, जैसलमेर, अजमेर, बूंदी, दिल्ली, जयपुर में सेवाएं दी है।चौधरी का कहना है कि उन्होंने अपने कार्यकाल में सदैव आमजन से जुड़े रहे और अपराधियों पर सख़्ती रखी।

उनका कहना है कि पूर्ववर्ती राज्य सरकार के एक पक्षीय कार्यवाही के तहत 7 मार्च 2019 को सेवा से विमुख किये गये। इस संदर्भ में पंकज चौधरी ने कैट में अपील की है। कैट ने राज्य सरकार व केन्द्र सरकार को नोटिस इश्यू किया है।

आईपीएस चौधरी ने बताया कि इन विषम परिस्थितियों में भी हिम्मत न हारते हुए सच के लिए संघर्ष जारी रखने का निर्णय लिया है।

पंकज चौधरी ने का दावा है कि पिछले 8 वर्षों में राजस्थान के कई भ्रष्ट आईएएस, आईपीएस अधिकारियों सहित भ्रष्ट व देश विरोधी जनप्रतिनिधियों के कारनामे उजागर किये हैं।

पूर्व आईपीएस पंकज चौधरी का कहना है कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिमी राजस्थान से आम जनता के बीच जा रहे है। चौधरी पश्चिमी राजस्थान की 7 प्रमुख सीटों में से किसी एक सीट पर दावेदारी करेंगे।

पंकज चौधरी ने दावा किया है कि पश्चिमी राजस्थान की बाड़मेर- जैसलमेर, जालोर-सिरोही, जोधपुर,
पाली, नागौर, बीकानेर व गंगानगर- हनुमानगढ़ में से किसी एक सीट पर लोकसभा क्षेत्र में दावेदारी करेंगें।

पंकज चौधरी का कहना है कि वह किसी बड़े वादे व समीकरण के साथ आम जनता के बीच नही जा रहे हैं। पंकज चौधरी के मुताबिक वह पश्चिमी राजस्थान में निम्नलिखित नीतियों व विजन पर आम जनता के बीच जाकर कार्य करना चाहते हैं।

1.) न जाति, न धर्म, न क्षेत्र, देश सर्वोपरि की भावना के अनुरूप कार्य करना।

2.) महिला सशक्तिकरण विशेषकर पश्चिमी राजस्थान में महिलाओं व बालिकाओं के लिए कार्य करना।

3.) सीमा की सुरक्षा, आंतरिक सुरक्षा, देश हित के लिए के लिए पश्चिमी राजस्थान में विशेष मुहिम के तहत कार्य करना।

4.) पश्चिमी राजस्थान के युवाओं को प्रेरित कर राष्ट्र निर्माण की कड़ी में शामिल करना।

5.) 36 कौम को एक साथ लेकर पश्चिमी राजस्थान को देश के शीर्ष पटल पर लाना।

6.) गरीब, पीड़ित,असहाय की पीड़ा पर त्वरित कार्य करना, पुलिस की गलत कार्य प्रणाली पर नियंत्रण, भ्रष्ट व अयोग्य पुलिस कर्मियों पर प्रहार, ईमानदार व योग्य पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को पर्याप्त संरक्षण देने हेतु प्लेटफार्म तैयार करना।

7.) सीमा पर तस्करी, संदिग्ध गतिविधियों, देश विरोधी गतिविधियों पर पर्याप्त नियंत्रण करना।

8.) आमजन में विश्वास पैदा करना व अपराधियों में ख़ौफ पैदा करना।

9.) पश्चिमी राजस्थान में प्रशंसनीय कार्य करने वाले सामाजिक संस्थाओं, व्यक्ति विशेष आदि को पर्याप्त सम्मान व राष्ट्रीय मंच प्रदान करना।

10.) पश्चिमी राजस्थान को पर्यटन के क्षेत्र में विश्व पटल पर लाना, सांस्कृतिक धरोहरों पर पर्याप्त संरक्षण सुनिश्चित करना।

11.) प्रत्येक माह एक भ्रष्ट अयोग्य आईएएस व आईपीएस को तथ्यों व साक्ष्यों के आधार पर एक्सपोज करना व शीघ्र कार्यवाही हेतु संबंधित संस्थाओं पर दबाव बनाना।