ins vikramaditya indian navy
ins vikramaditya indian navy

New delhi.

14 फरवरी को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैसे मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के आतंकी द्वारा पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमले के बाद भारतीय वायु सेना के द्वारा 26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर घुसकर की गई एयर स्ट्राइक तो केवल शुरुआत थी।

उसकेके बाद भारत ने पाकिस्तान पर परमाणु हमले की भी तैयारी कर ली थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की तीनों सेनाओं को खुली छूट दे दी थी। इसके साथ ही भारतीय नेवी ने INS विक्रमादित्य और सबमरीन को तैनात कर दिया था।

70 से अधिक लड़ाकू विमान युद्धपोतों में पाकिस्तान की तरफ मुंह खोल कर खड़े थे, जिनको केवल एक ऑर्डर की जरूरत थी। इस बात का खुलासा आज हुआ, जब एक समाचार एजेंसी को भारतीय नेवी के सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली।

Breaking news: मोदी ने INS विक्रमादित्य, INS चक्र, सबमरीन समेत सभी युद्धपोत कर दिए थे तैनात 1

हालांकि भारत ने कभी यह नहीं कहा कि भारतीय ने भी पाकिस्तान पर हमला करने की तैयारी में है। यह तैयारी तब की गई थी, जब एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की तरफ से पलटवार करने की संभावना थी।

भारतीय सेना यहां तक तैयार थी कि पाकिस्तान यदि न्यूक्लियर अटैक भी करता है तो उसको उसी के देश में घुस कर समाप्त कर दिया जाएगा।

जानकारी मिली है कि भारतीय सेना ने INS विक्रमादित्य सबमरीन के अलावा INS चक्र को भी तैनात कर दिया था। इन सब में मिलाकर भारत के लड़ाकू विमानों की संख्या करीब 70 थी जो कभी भी पाकिस्तान पर अचूक अटैक करने के लिए महज 2 मिनट के आदेश पर तैनात थे।

हालांकि पाकिस्तान के द्वारा ऐसी कोई हरकत नहीं की गई और उसका प्रॉक्सी वॉर ही चला, जिसका जवाब भारतीय वायु सेना ने दिया। भारत के MIG 21 ने पाकिस्तान के F16 को उसी की धरती पर मार गिराया।

उसके बाद पाकिस्तान की तरफ से हमले की कोई न तो तैयारी की गई और नया हरकत की गई, केवल भारत के अटैक के लिए इंतजार कर रहा था।

बदले में भारत ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के ठिकानों को उड़ाने के अलावा किसी नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचाया।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।