जयपुर।
केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में सेंट्रल मोटर व्हीकल एक्ट में संसोधन करने और एक सितंबर से उसे लागू करने के बाद सोशल मीडिया पर हाहाकार मचा हुआ है, तो दूसरी तरफ इसका असर सड़क पर भी नजर आने लगा है।

जो माइनर सड़क बेहिजक वाहन दौड़ाते थे, उसमें कमी आई तो दूसरी ओर परिजनों ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। सोशल मीडिया पर जारी मीम्स के बीच हम आपको बता रहे हैं कि मोटर व्हीकल एक्ट में संसोधन के बाद भी आप चालान से कैसे बच सकते हैं।

इससे पहले आपको बताते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा चालान के जुर्माने के तौर पर बढ़ाये गये पैसे की स्थिति क्या है? दुपहिया वाहन पर सवारी करने वाले ड्राइवर या सवारी में से किसी ने भी अगर हेलमेट का प्रयोग नहीं किया है तो अब आपको 100 रुपयों की जगह 1000 रुपये देने होंगे। इसके साथ ही आपको लाइसेंस भी 3 माह के लिये सस्पेंड हो जायेगा।

इसी तरह से यदि आपने चोपहिया या दुपहिया वाहन का प्रदुषण नहीं करवाया है, तो अब आपको जुर्माने के तौर पर 1000 रुपयों की जगह 2000 रुपये चुकाने होंगे।

अगर आप वाहन चलाते हैं, किंतु आपके पास वाहन चलाने का ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है तो आपको 500 रुपयों की जगह 5000 रुपये चालान के भरने होंगे।

इसी तरह से यदि आपको कहीं पर जाने की जल्दी है और इसी चक्कर में आपने गाड़ी तेज दौड़ाई तो चालान के तौर पर ढाई गुणा राशि चुकाने के लिये तैयार हो जायें। अब आपको 400 रुपये की जगह 1000 रुपये देने होंगे।

इंश्योरेंस की कीमतें भले ही बढ़ गई हों, किंतु फिर भी वह आपको भारी नहीं पड़ेगा। क्योंकि इंश्योरेंस नहीं होने पर आपको एक बार में 1000 की जगह अब 2000 रुपयों का चालान भरना होगा।

कार चालक भी बेहद सावधान हो जायें। जो कार चालक लापरवाही में सीट बेल्ट नहीं लगाते हैं, उनके लिये चेतावनी है। सीट बेल्ट नहीं लगाकर कार चलाने वाले 300 रुपयों की जगह 1000 रुपयों का चालान भरना होगा।

फिल्मी स्टाइल में चलते वाले युवाओं के लिये भी अब बड़ी चेतावनी है। जो युवा खतरनाक तरीके से वाहन चलाते हैं, उनको भी अब 1000 रुपयों की जगह सीधा 5000 रुपयों का चालान के तौर पर भुगतान करना होगा।

शराब पीकर वाहन चलाने वाले को एक बार में ही महीनेंभर की शराब के बराबर चालान भरना पड़ सकता है। अब आप शराब पीकर वाहन चलाते हुये पकड़े जाते हैं तो आपको 10000 रुपयों का जुर्माना भरना होगा।

कितना भी काम हो, आप वाहन चलाते हुये मोबाइल पर बात नहीं कर सकते। फिर भी अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको कम से कम 1000 रुपयों की पैनल्टी भरनी होगी।

एंड्रोइड फोन आने के बाद यह चालान पहली बार शुरू हुआ है। अगर वाहन चलाते हुये सेल्फी लेते पकड़े गये तो आपको 2000 रुपयों का चालान देना होगा।

इसके साथ ही कहीं भी गाड़ी खड़ी कर चलते बनने वालों के लिये भी अलार्मिंग है। जो गलत जगह वाहन पार्क करते हैं, उनको अब 100 रुपयों की जगह 500 रुपयों का चालान भरना होगा।

सबसे बड़ा चालान है नाबालिग के लिये। नाबालिग यदि कार चलाता हुआ पकड़ा जाता है तो उसको 500 रुपयों की जगह अब 25000 रुपये चुकाने होंगे। साथ ही उसके परिजनों को 3 साल तक की जेल भी हो सकती है।

एंबुलेंस, फायर वाहन या अन्य वीआईपी सुरक्षा में लगे वाहन को यदि आपने रास्ता नहीं दिया तो आप पर 10000 रुपयों का चालान कटेगा, वह आपको भरना ही होगा।

कुल मिलाकर बात यह है कि तीन माह के लिये लाइसेंस को निलंबित होने से बचाने, अपने परिजनों को 3 साल की सजा से बचाने और 65500 रुपये भी बचाने की सोच रखते हो तो जैसे उपाय हम बताते हैं, वैसा कीजिये।

आप वाहन चलाते हैं तो हेलमेट पहनकर चलें। आपको एक हजार रुपये की बचत होगी। प्रदुषण सर्टिफिकेट साथ रखिये, आप अपने 2000 रुपये बचायेंगे। इसी तरह से ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में 5000 का खर्च नहीं आता है, आप बनवायें और अपने पास रखें, यह भी बचत ही है।

आराम से वाहन चलायें, क्योंकि तेज गति जीवन की क्षति तो है ही ट्रैफिक जाम का भी एक कारण बनती है। नियमों चलें और अपने 1000 रुपये बचायें। इंश्योरेंस केवल आपका चालान ही नहीं, अपितु गाड़ी के चोरी होने, दुर्घटना होने पर आपको आर्थिक नुकसान से बचाता है। इसलिये इंश्योरेंस रखें, इससे आपकी 2000 रुपयों की बचत भी होगी।

सीट बेल्ट लगायें, यह आपके जीवन के लिये बहुत जरूरी है। इसके साथ ही चालान के 1000 रुपये भी बचायेगी। वाहन आराम से चलायें, क्योंकि धीरे चलते से जीवन भी बचता है और 5000 रुपया भी। शराब पीनी हो तो घर में लाकर पीयें, बाहर पीकर घर जाना चाहेंगे तो जा भी नहीं पायेंगे और 10 हजार का चालान भी कटवायंगे।

चलते वाहन में फोन आये या जरूरी बात करनी हो तो रुककर करें, यह आपकी सेहत और अर्थव्यवस्था के लिये जरूरी है, इससे आपको 1000 रुपये की बचत होगी। सेल्फी लेने के लिये वाहन को रोकें और आराम से लें, इससे अच्छी सेल्फी भी आयेगी और 2000 रुपयों का फायदा भी होगा।

पार्किंग सही जगह करोगे तो समय पर गाड़ी मिल भी जायेगी और 500 रुपयों की बचत भी होगी। नाबालिग न केवल अपनी जान गवां सकता है, बल्कि आपकी कार भी खत्म कर सकता है। इसलिये इससे बचें और 25 हजार के चालान से भी मुक्ति पायें।

एंबुलेंस, फायर वाहन और वीआईपी सुरक्षा में तैनात वाहन किसी न किसी का जीवन बचाने के लिये हैं। इसलिये उनको पहले जाने दें, साथ ही अपने 10 हजार रुपये भी बचायें। संकट से भी बचें।