kachara mashin

—सरकार ने लगाया भारी जुर्माना, जून से शुरू हो जाएगी होटलों, मैरिज गार्डनों से जुर्माना वसूली

जयपुर। ठोस अवशिष्ठ प्रबंधन अधिनियम के तहत अगर होटल मालिकों और मैरिज गार्डन संचालकों ने कचरे से खाद बनाने की मशीनें नहीं लगाई तो उनकी खैर नहीं है।

राज्य सरकार ने अधिनियम की पालना नहीं करने वाले संस्थानों पर भारी जुर्माना कायम किया है। उधर नई उपविधियां आने के बाद नगर निगम प्रशासन ने भी अधिकारियों को चेता दिया है कि जून से ऐसे संस्थानों पर जुर्माने की कार्रवाई शुरू कर दी जाए।

नई उपविधियों में अपने संस्थान से निकलने वाले कचरे से खाद बनाने की मशीनें नहीं लगाने वालों पर 10 हजार रुपए से लेकर 50 हजार रुपए प्रतिमाह जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

ऐसे में रेजिडेंशियल वेलफेयर सोसायटी पर 10 हजार रुपए प्रतिमाह, मार्केट एसोसिएशन पर 20 हजार रुपए प्रतिमाह, होटलों पर 50 हजार रुपा प्रतिमाह, रेस्टोरेंट पर 20 हजार रुपए प्रतिमाह का भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर निगम में आयोजित बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह ठोस अवशिष्ठ प्रबंधन अधिनियम की पालना पर जोर रखें और जुर्माने की कार्रवाई से भी गुरेज नहीं करें।

इस बैठक से पूर्व ही निगम प्रशासन ने होटल एसोसिएशन और मैरिज गार्डन एसोसिएशन के साथ बैठक कर उन्हें चेता दिया था कि वह एक महीने के भीतर अपने संस्थान से निकलने वाले गीले कचरे से खाद बनाने की मशीन लगा लें।

अभी तक निगम शहर के मात्र 100 होटलों में ही ऐसी मशीनें लगवा पाया है।
यह किया तो लगेगा जुर्माना

कृत्य………जुर्माना
घरों का कचरा सड़कों पर आने पर…100 रुपए प्रतिदिन

दुकानदारों द्वारा कचरा सड़क पर डालने पर….1000 रुपए प्रतिदिन
रेस्टोरेंट द्वारा खुले में कचरा डालने पर…2000 रुपए प्रतिदिन

होटल मालिकों द्वारा कचरा डालने पर…2000 रुपए प्रतिदिन
औद्योगिक प्रतिष्ठान द्वारा कचरा डालने पर….5000 रुपए प्रतिदिन

हलवाई, चाट-पकौड़ी, फास्ट फूड, ज्यूस, सब्जी के ठेलों पर….100 रुपए प्रतिदिन
सूखे कचरे को प्रथक नहीं करने पर….200 रुपए प्रतिदिन

दुकान पर कचरा पात्र नहीं होने पर….750 रुपए प्रतिदिन
कचरा जलाने पर….500 रुपए प्रतिदिन

पालतू जानवरों को खुले में शौच कराने पर…1000 रुपए प्रतिदिन
निर्माण सामग्री सरकारी भूमि पर डालने पर….1000 रुपए प्रतिदिन

पोस्टर-स्टीकर लगाने पर….2000 रुपए प्रतिदिन
बिना स्वीकृति रोडकट…5000 रुपए प्रतिदिन

घरों का गंदा पानी सड़कों पर जमा होने पर…5000 रुपए प्रतिदिन
मीट दुकानदारों द्वारा अवशिष्ठ सड़क पर डालने पर….4000 रुपए प्रतिदिन

आम रास्तों पर पालतू जानवरों की गंदगी फैलाने पर….5000 रुपए प्रतिदिन
सड़क पर खुले में मांस पकाने पर…3000 रुपए प्रतिदिन

हेयर कटिंग सैलून द्वारा बाल सड़क पर डालने पर….500 रुपए प्रतिदिन
सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर व्यवसाय करने पर….5000 रुपए प्रतिदिन

सार्वजनिक स्थलों, रोड, गली में गंदगी
थूकने पर…..200 रुपए

खुले में नहाने पर….300 रुपए
खुले में पेशाब करने पर….200 रुपए

खुले में शौचा करने पर….500 रुपए
गोबर डालने पर….5000 रुपए

प्लास्टिक कचरे पर यह जुर्माना

किसी भी संस्थान, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, शैक्षणिक संस्थान, आॅफिस, होटल, ढाबा, दुकान, रेस्टोरेंट, मिठाई दुकान, मंदिर, औद्योगिक इकाई, मैरिज हॉल, मैरिज गार्डन, द्वारा प्लास्टिक कचरे को बाहर फेंकने पर 5000 रुपए प्रतिदिन जुर्माना लगाया जाएगा।

व्यक्तियों, घरों, दुकानों द्वारा प्लास्टिक कचरा बाहर फेंकने पर 1000 रुपए प्रतिदिन जुर्माना लगाया जाएगा।

प्लास्टिक कचरा जलाने पर 500 रुपए प्रतिदिन जुर्माना लगाया जाएगा। प्लास्टिक कैरी बैग का उपयोग करते पाए जाने पर 100 रुपए प्रतिदिन का जुर्माना लगाया जाएगा।