जयपुर।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सांठगांठ को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने उजागर किया है।

आज राजस्थान सरकार के द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विशेषाधिकारी के तौर पर आईएएस गजानंद शर्मा को लगाए जाने को लेकर हनुमान बेनीवाल ने सवाल खड़ा किया है।

हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री के विशेषाधिकारी के तौर पर लगाए गए गजानंद शर्मा की नियुक्ति के साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री की सांठगांठ उजागर होती है।

गौरतलब है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की राजस्थान सरकार ने करीब 3 साल पहले संशोधन कर एक कानून बनाया था। जिसके तहत पूर्व मुख्यमंत्री को सरकारी बंगला, विशेष अधिकारी और महीने के करीब 2 लाख के खर्चे के तौर पर देने की बातें शामिल थीं।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के द्वारा किसी भी पूर्व मुख्यमंत्री को आइएएस या आरएएस अधिकारी विशेष अधिकारी के तौर पर देने की रोक है, लेकिन राजस्थान सरकार के कानून के तहत अशोक गहलोत सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के लिए आईएएस गजानंद शर्मा की नियुक्ति की गई है।