Hanuman beniwal with ramgopal jat
Hanuman beniwal with ramgopal jat

जयपुर।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि राहुल गांधी नेता बनने लायक नहीं है और जब 23 मई के बाद रिजल्ट आएगा और उसके बाद बेनीवाल खुद लोकसभा जाएंगे तो वहां पर लोकसभा में भी राहुल गांधी को पप्पू ही कहेंगे।

हनुमान बेनीवाल ने यह बात नेशनल दुनिया के साथ बात करते हुए अपने सरकारी निवास पर जयपुर में कही। राजस्थान की कांग्रेस पार्टी की अशोक गहलोत वाली सरकार पर निशाना साधते हुए हनुमान बेनीवाल ने कहा कि यह सरकार पूरी तरह नाकारा साबित हुए 4 महीने में ही अपराध का ग्राफ सातवें आसमान पर पहुंच गया है।

हर तरफ बच्चियों से गैंगरेप, बलात्कार और मासूम बच्चियों की हत्या की जा रही है। अशोक गहलोत खुद पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग और उनके गुर्गों को बचाने में लगे हुए हैं।

सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं और अशोक गहलोत अपनी कुर्सी बचा रहे हैं, इस चक्कर में ने प्रदेश पर ध्यान नहीं, जनता के ऊपर ध्यान नहीं है।

हनुमान बेनीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि ज्योति मिर्धा के परिवार उनके खानदान ने मारवाड़ के कई जिलों में बर्बादी मचाई, वह केवल राजस्थान के कुछ जिलों तक सीमित है, जबकि हनुमान बेनीवाल राष्ट्रीय स्तर के नेता बन चुके हैं।

उन्होंने कहा कि राजस्थान के अलवर जिले की थानागाजी तहसील में 26 अप्रैल को एक लड़की के साथ 5 दिन द्वारा किया जाता है, उसका वीडियो बनाया जाता है और सोशल मीडिया पर डाल दिया जाता है।

लेकिन क्योंकि 29 अप्रैल को और 6 मई को राजस्थान में लोकसभा के चुनाव थे, तो दलित मतदाताओं को बांधे रखने के लिए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने नाकारापन दिखाते हुए पुलिस महानिदेशक के द्वारा दबाव बनवा कर स्थानीय एसपी और थानेदार को मुकदमा दर्ज नहीं करने दिया और जब 6 मई को शाम को 6:00 बजे मतदान प्रक्रिया पूरी हो गई तब पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया और मामला मीडिया में खुलने दिया।

हनुमान बेनीवाल ने अशोक गहलोत का आरोप लगाते हुए कहा कि केवल जोधपुर में अपने बेटे के लिए राजनीतिक जमीन तैयार करने में लगे हुए हैं, जबकि पूरे राजस्थान की बच्चियों का वैभव लुट चुका है।

आज की स्थिति यह है कि राजस्थान में 5-5 मुख्यमंत्री बने हुए हैं। बेनीवाल ने बताया कि पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग, सीएमओ में तैनात अधिकारी और तीन अन्य अधिकारी मिलकर अशोक गहलोत को चला रहे हैं।

राजस्थान की स्थिति यह है कि एक तरफ 5 मुख्यमंत्री बने हुए हैं तो दूसरी तरफ डिप्टी सीएम सचिन पायलट खुद मुख्यमंत्री बनने के लिए ताकत लगा रहे हैं।

मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की इस लड़ाई के चक्कर में पूरा प्रदेश पिस्ता जा रहा है, अपराधियों की शरणगाह बनते राजस्थान को अब कांग्रेस से मुक्त होने की आवश्यकता है।

हनुमान बेनीवाल ने दावा किया कि न केवल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी और बीजेपी का गठबंधन नागौर में चुनाव जीतेगा, बल्कि पूरे राजस्थान की 25 में से 25 सीटों पर कांग्रेस की हार तय है।

इसके साथ ही बेनीवाल ने यह भी कहा कि देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जरूरत है और एक बार फिर से प्रचंड बहुमत के साथ मोदी सत्ता में आ रहे हैं।

बेनीवाल ने यह भी कहा कि जाट और राजपूत जिनकी कभी कोई लड़ाई नहीं थी, कुछ राजनीतिक लोगों के द्वारा इन दोनों जातियों में वेयर पैदा करने का प्रयास किया गया, जिसको इस लोकसभा चुनाव में खत्म कर लेगी।

उन्होंने दावा किया कि जोधपुर, बाड़मेर, बीकानेर, नागौर, सीकर, जयपुर ग्रामीण में उन्होंने खुद प्रचार करके राजपूत नेताओं के लिए जमीन तैयार की और पूरे जाट समाज को एकजुट करके राजपूत नेताओं के पक्ष में वोटिंग करवाने का काम किया।

यह सामाजिक सौहार्द राजस्थान की राजनीति में कई दशकों बाद बना है और इसको आगे बढ़ाएंगे।

इसके साथ ही बेनीवाल ने कहा कि प्रदेश में गुर्जर और मीणा की भी कोई लड़ाई नहीं है, लेकिन गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान दोनों समाजों में जो खटास पैदा हो गई थी, उसको दूर किया जाएगा।

दोनों जातियों का एक संयुक्त सम्मेलन बुलाया जाएगा और सौहार्द कायम किया जाएगा।

हनुमान बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस की सरकार पूरी तरह से दलित, आदिवासी विरोधी है और यह जातियों और धर्मों में लड़ा कर वोट हासिल करने का काम करती है।

अशोक गहलोत का संदेश देने का जो नाटक है, वह खत्म हो चुका है और राजस्थान की जनता अशोक गहलोत के झूठ को पहचान चुकी है।

ऐसे में अब जल्द से जल्द राज्य में अशोक गहलोत से मुक्ति मिलने वाली है, इनकी सरकार पूरे 5 साल तक नहीं चलेगी और राजस्थान में सत्ता परिवर्तन होना तय है।