IPS pankaj choudhary
IPS pankaj choudhary

Jaipur/jodhpur.
-महिला दिवस के कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर चौधरी ने बेबाकी से रखी अपनी बात, पहली पत्नी के होते हुए दूसरी शादी करने पर किया गया था नौकरी से बर्खास्त।

गृह मंत्रालय (Home ministry) से बर्खास्त किए जाने के बाद IPS पंकज चौधरी ने कहा कि जिन तथ्यों को कोर्ट (Court) ने मान लिया, उन्हीं को राज्य सरकार ने जानबूझकर नजरअंदाज करते हुए एकतरफा कार्रवाई (one side action) की थी।

बर्खास्तगी के आदेश को IPS choudhary ने केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण (CAT) में चुनौती दी है। मुझे न्यायपालिका (Judiciary) पर पूरा भरोसा है और जल्द ही सेवा में लौटूंगा।

शुक्रवार को जोधपुर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे आईपीएस चौधरी ने ये बात मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कही। आईपीएस पंकज चौधरी का कहना है कि बेईमान लोग अपने आप ही संगठित हो जाते हैं, जबकि ईमानदार अफसर खुद में ही सीमित होने के कारण यह परिस्थिति बनती हैं।

यही वजह है कि वे ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) के चंद लोगों की नजरों में खटक रहे हैं। ऐसे लोग कैसे भी उन्हें सेवा से हटाने की यह साजिश ज्यादा लंबे समय तक नहीं टिकेगी, क्योंकि बर्खास्तगी (Service dismissed) के लिए जिन तथ्यों को आधार बनाया गया है, हकीकत इससे अलग है।

आईपीएस चौधरी ने कहा है कि चूंकि, यह प्रकरण अब न्यायालय में विचाराधीन है, इसलिए इस पर ज्यादा टिप्पणी करना उचित नहीं है। उन्होंने दावा किया है कि साजिश रचने वालों को भी जवाब मिल जाएगा, जब मैं कोर्ट से जीतकर वापस लौटूंगा।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।