कितनी सच है 3 से 5 करोड़ में टिकट बेचने की बातें?

250
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

कांग्रेस के राष्ट्रीय मुख्यालय पर लगे पोस्टर का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में कांग्रेस का टिकट बिकने का आरोप लगाया गया है। हालांकि, अभी तक इस बारे में कांग्रेस के किसी बड़े नेता का बयान सामने नहीं आया है।

राजनीतिक पार्टियो में टिकट बैचने के अक्सर लगने वाले आरोप इस बार थोड़े महंगे हो गए हैं। गत बार टिकट बिकने के आरोप केवल 3 करोड़ रुपए तक था, लेकिन इस बार यह राशि बढ़कर 5 करोड़ रुपए तक पहुंच चुकी है।

कांग्रेस मुख्यालय, 24-अकबर रोड से इस बार 3.5 करोड़ के आरोप के साथ वीडियो बाहर आया है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

चुनावी मौसम में टिकटार्थी अपने टिकट की जुगाड़ में लगे हैं, वहीं इस वीडियो में राजस्थान की एक सीट 3.50 करोड़ रुपए में बिकने की बात सामने आ रही है, केवल बात ही सामने आई है, देखा किसी ने नहीं है।

पार्टी कार्यालय पर टिकटार्थियों की बढ़ती भीड़ के बीच एक तरफ कांग्रेस अपनी पहली टिकट सूची को लेकर माथापच्ची कर रही है। कांग्रेस मुख्यालय के टॉयलेट में चस्पा किया गया एक पोस्टर सोशल मीडिया पर तहलका मचा चुका है।

जो वीडियो सामने आया है, उसके अनुसार इस पोस्टर पर लिखा है गया है— सेल…सेल…सेल…कांग्रेस पार्टी कांस्टीट्यूएंसी फलौदी (122) राजस्थान ऑन सेल।

बताते हैं इसका अर्थ यह हुआ कि राजस्थान के जोधपुर जिले की फलौदी सीट कांग्रेस पार्टी 3.50 करोड़ रुपए में बेच रही है! जिसकी सेल लगी है। पोस्टर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कांग्रेस नेताओं आनन-फानन में पोस्टर तो हटवा दिया गया, लेकिन सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो पर कोई कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं।

पोस्टर किसने और कब लगाया है, इसका खुलासा अभी तक भी नहीं हो पाया है। कांग्रेस मुख्यालय के पैशाब घर में किसने इस पोस्टर पर कांग्रेस नेताओं ने माथापच्ची शुरू कर दी है। हालांकि, अभी तक इसको केवल शरारती तत्वों की करतूत कहा जा रहा है।

असल में जो पोस्टर लगा है, उसमें कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी अध्यक्षा कुमारी शैलजा पर पैसे लेकर टिकट देने का आरोप है। मजेदार बात यह है कि पोस्टर में कुमारी शैलजा एक अन्य महिला नेत्री के साथ नजर आ रही हैं।

कांग्रेस नेताओं ने इसे विरोधी पार्टी की करतूत बताकर पल्ला झाड़ने का प्रयास कर रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस पार्टी के राजस्थान प्रभारी सचिवों पर भी ऐसे ही कई आरोप लगे थे, जिसके चलते राहुल गांधी ने पहली सीईसी में फटकार लगाई थी।

राहुल की फटकार के बाद कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान के सभी चारों प्रभारी सचिवों की छुट्टी भी कर दी है। लेकिन टिकट बिकने के इस पोस्टर ने फिर से कांग्रेस को सवालों के घेरे में ले लिया है।

आपको बता दें कि सियासी हलकों में इस बार बीजेपी के बजाए कांग्रेस का टिकट महंगा बताया जा रहा है। चर्चा है कि साल 2013 में ​एक टिकट की कीमत करीब 3 करोड़ रुपए हुआ करती थी, लेकिन इस बार यह संख्या 5 करोड़ तक पहुंच चुकी है।

वैसे टिकट बंटवारे से नाखुश लोगों के द्वारा हमेशा से ही टिकट बैचने का आरोप लगाया जाता रहा है। अब चूंकि पैसे की रोनक बढ़ गई है, तो स्वभाविक है कि इस तरह के टिकट की दरें भी अधिक होंगी ही।

जहां पर भी अप्रत्याशित टिकट दिया जाता है, वहां पर दोवेदारों द्वारा टिकट बैचने का आरोप लगाया जाता है। विरोध इस बार बढ़ गया है। वैसे शेखावाटी का सट्टा बाजार, जो कि हमेशा सटीकता के नजदीक होते हैं में भी कांग्रेस को बढ़त बताई जा रही है।

संभवत: यही कारण है कि इस बार टिकटार्थियों का झुकाव बीजेपी के बजाए कांग्रेस की तरफ अधिक है। ऐसे में यह पोस्टर काफी कुछ कहने के लिए पर्याप्त हो सकता है। बहरहाल, कांग्रेस और भाजपा दीपावली के बाद पहली सूची जारी करने की बात कह रही है।

खबरों के लिए फेसबुक और ट्वीटर और यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।