क्या चीन में 42 हजार मौतें हुई हैं, दावा करने वाले डेली मेल की यह रिपोर्ट पढ़िए

corona deaths coronavirus
corona deaths coronavirus

नेशनल दुनिया डेस्क

नई रिपोर्ट्स में अब चीन के लोगों के हवाले से लिखा गया है कि वुहान में 42 हजार से अधिक मौतें हुई हैं। डेली मेल ने अपनी रिपोर्ट में कई चीनी लोगों के बयान प्रकाशित किए हैं।

डेली मेल ने दिखा है कि हुबई प्रान्त के अधिकारियों के एक सूत्र ने दावा किया है कि यहां पर पिछले दिनों 28 हजार से ज्यादा का शवदाह किया गया है। जबकि स्थानीय प्रशासन आंकड़ों को बढ़ाकर नहीं बता रहा है।

चीन के लोगों द्वारा किया गया दावा चीनी अधिकारियों के हवाले से जारी किया गया है, जिसके अनुसार चीन में बताई गई संख्या के 10 गुणा से भी अधिक हो सकता है।

वुहान के लोगों का दावा है कि यहां पर बने हुए 7 शवदाह ग्रहों से हर दिन 500 से ज्यादा अस्थि कलश दिए जा रहे हैं, इसका मतलब यह है कि यहां पर हर रोज करीब 3500 की जान जा रही है।

हंकोउ, वुचांग और हान्यांग के लोगों का दावा है कि यह अस्थि कलश अगली 5 अप्रैल तक दिए जाएंगे। डेली मेल ने दावा किया है कि इसका मतलब यह है कि करीब 42 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।

इससे पहले भी मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि हंकोउ के शवदाह ग्रहों से 5000 अस्थि कलश दिए गए थे।

दरअसल, ये रिपोर्ट्स तब सामने आ रही हैं, जब हुबेई प्रान्त में लॉक डाउन खोल दिया गया है और यहां पर स्कूलों, कॉलेजों को खोल दिया गया है।

दावा किया जा रहा है कि ग्रीन सर्टिफिकेट जिनको जारी किए गए हैं, उनको हुबई छोड़कर बाहर जाने की अनुमति भी मिल चुकी है। इसका मतलब यह है कि उनकी रिपोर्ट्स नेगेटिव आ गई है।

यह भी पढ़ें :  Pakistan : सीनेट ने भी सैन्य प्रमुख सेवा विस्तार विधेयक को मंजूरी दी

वुहान में 23 जनवरी को लॉक डाउन किया गया था, जो 25 मार्च तक जारी था। अब यहां से बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई है, केवल वुहान में ही प्रतिबंध हटे हैं।

रेडियो फ्री एशिया के अनुसार वुहान के एक अन्य व्यक्ति झांग ने दावा किया है कि यहां पर इतने दिनों तक 24 घंटे ड्यूटी के कारण साफ तौर पर कहा जा सकता है कि चीन मौतों का असली आंकड़ा छिपा रहा है।

रेडियो ने मउ सरनेम वाले एक व्यक्ति के हवाले से कहा है कि शायद अधिकारी इसलिए धीरे धीरे आंकड़े जारी कर रहे हैं, ताकि लोग इस आपदा में हुई मौतों को स्वीकार लें।

उल्लेखनीय है कि दुनियाभर में 30 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं, जबकि चीन का दावा है कि उनके 3300 मौत हुई है। अकेले इटली में ही मौतों की संख्या 10 हजार से अधिक हो चुकी है।

इससे पहले डेली मेल की अन्य रिपोर्ट में कहा गया था कि चीन में चार मोबाइल कंपनियों में से एक कंपनी के पिछले दिनों 85 लाख कनेक्शन बंद हुए हैं।

हालांकि, इसके पीछे कई अन्य तर्क भी दिए गए थे, जैसे दूसरे प्रांतों में चले जाना, दूसरी कंपनी के पोर्ट करवा लेना, आपदा के कारण आर्थिक बोझ कम करने के लिए डबल सिम में से एक सिम बंद कर देना।

उससे पहले अमेरिकी स्पेस ऐजेंसी ने एक चित्र जारी कर वुहान में धुंआ का गुब्बार बताया था, जो केवल शवदाह के कारण ही उठता है। इसमें भी धुंआ का रंग भी बताया गया था।

यह भी पढ़ें :  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने आमेर के लिए भेजीं 100 से अधिक सैनेटाइज मशीनें, इससे पहले भेजी थी राशन सामग्री