Shaktikanta-Das
Shaktikanta-Das

जयपुर।
कोविड19 के चलते देश की सरकार तेजी से आर्थिक कदम उठा रही है। सरकार ने एक दिन पहले ही 1.70 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज दिया था, अब रिजर्व बैंक ने भी कहा है कि सभी लोगों को अपने मकान, दुकान, कारोबार, गाड़ी समेत कोई भी किस्त अगले तीन माह तक नहीं चुकाने पर एनपीए नहीं किया जाएगा।

इसका मतलब यह हुआ कि सरकार ने सीधे तौर पर तीन माह तक किस्तों को सस्पेंड कर दिया है। तीन माह के बाद स्थितियां सामान्य होने पर फिर से आप लोन की किस्त भरना शुरू कर सकते हैं।

आरबीआई ने रेप रेट में कमी की है। इससे ब्याज दरों में कटौती का लाभ मिलेगा और ग्राहकों को बाद में किस्तें चुकाने में भी सहुलियत होगी। आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वो तय करें कि किस तरह से ग्राहकों को राहत पहुंचाई जाएगी।

पिछले एक सप्ताह से जनता मांग कर रही थी कि हर माह भरी जाने वाली बैंकों की किस्तों में भी राहत दी जाए। इसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है। सरकार ने कहा है कि किसी ग्राहक का खाता अगले तीन माह तक एनपीए नहीं किया जाएगा।

आरबीआई ने कहा है कि रेप रेट .75 प्रतिशत कम की गई है, इससे ब्याज दरों में बड़ा फायदा होगा। रेपो दर कम होने के कारण लोगों को किस्त चुकाने में आसानी होगी।