जयपुर।
मध्यप्रदेश के एक पत्रकार को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की सूचना ने फील्ड में काम करने वाले पत्रकारों का गला सुखा दिया है। इसकी प्रतिक्रिया देखकर आमजन भी अब खौफ़ खाने लगा है। जैसे ही मध्य प्रदेश के एक पत्रकार को कोरोना पॉजिटिव होने की खबर मिली, तो देशभर में इस खबर को लेकर प्रतिक्रिया शुरू हुई।

राजस्थान से सीनियर जर्निलिस्ट मदन कलाल ने अपने फेसबुक पेज पर खबर का स्क्रीन शॉट लेकर डाला है। उन्होंने लिखा है, ‘सावधान, सतर्क रहे हमारे मीडिया के साथी। मध्यप्रदेश में एक पत्रकार कोरोना पॉजिटिव। कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल रहा यह मीडिया कर्मी। पूर्व मुख्यमंत्री आइसोलेट।’

पत्रकार मदन कलाल की इस पोस्ट को लेकर तरह तरह की प्रतिक्रिया मिल रही है। कुछ को तो भरोसा ही नहीं हो रहा है कि इस तरह से कोई पत्रकार, जो दिनरात जनता को खबरें उपलब्ध करवाने का काम करता है, उसको भी कोरोना ने जकड़ लिया है।

इसी तरह से अन्य कुछ पत्रकारों ने भी अपने सोशल मीडिया (Social Media) अकाउंट्स पर पोस्ट की हैं। व्हाट्सअप ग्रुप्स पर भी पत्रकार को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पत्रकार चर्चा में प्रमुखता दे रहे हैं।

इधर, जानकारी में आया है कि जिस दिन कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस्तीफा दिया था, उसमें शामिल सभी पत्रकारों को क्वांटरटाइन कर दिया गया है। उनके परिजनों को भी आइसोलेशन में रखा गया है। बताया जा रहा है कि कमलनाथ ने खुद को भी आइसोलट कर लिया है।

जानकारी में आया है कि जिस पत्रकार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, उसकी बेटी विदेश से आई थी, जिसको बाद में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। अब खुद पत्रकार भी चपेट में आ गया है।

जिस तरह से सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग एक्टिव हैं, उससे साफ हो गया है कि अब किसी भी पेशे के लोग अपनी गलती छुपा नहीं सकते, भले ही वो पत्रकार ही क्यों न हों।