tanu tomar with her father harendra tomar
tanu tomar with her father harendra tomar

नई दिल्ली।
एक पिता के लिए उसकी औलाद की उपलब्धि से बड़ा सुख और उसकी नाकामी से बड़ी कोई पीड़ा नहीं होती। अपनीं संतान को सफलता की उंचाइयों तक पहुंचाने के लिए पिता दिनरात एक कर देता है, वह पूरी दुनिया से लड़ जाता है। अपनी संतान को सुख देने के लिए एक पिता किसी भी हद तक जा सकता है, कुछ नहीं होने पर भी पिता के पास सबकुछ होता है, जो पुत्र—पुत्री को मिलना चाहिए।

एक पिता के पास इतना कुछ होने और करने के बाद भी अधिकांश की संतान वह सुख हासिल नहीं कर पाती है, जिसके लिए उसके पैरेंट्स अपना सबकुछ दांव पर लगा देते हैं। किंतु कुछ भाग्यशाली माता—पिता की संतान इतना कुछ हासिल कर जाती है, जो उनकी आशाओं, आकांशाओं और उम्मीदों से कई गुणा अधिक उंची उपलब्धि हासिल कर जाती है।

ऐसी ही एक संतान हैं उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के फतेहपुर पुट्टी गांव के हरेंद्र तोमर की तनु तोमर। तनु तोमर को अपने अध्यापकों ने जब बताया कि वह पूरे उत्तर प्रदेश में सबसे अव्वल आई है, जो सहसा उसे भरोसा ही नहीं हुआ, लेकिन जब उसको अस्थाई मार्कशीट दिखाई तो आंख से ​खुशी के आंसू निकल आए।

तनु अपने आंसू यूं व्यर्थ न बहाना चाहती थीं, वह अपनी मां के पास गईं। मां रुमा तोमर ने बताया​ उसके पिता तो खेत में लाण काट रहे हैं, मतलब गेंहू की कटाई कर रहे हैं। ककहरे बदन वाली सलवार सूट पहने तनू तोमर खेत की तरफ दौड़ीं।

पिता के पास जाते जाते उसकी सांस भर आई थी, लेकिन खेत की क्यारी में बैठे पिता के पास जाकर गुडिया बैठ गईं, तब तक भी पिता को अंदाजा नहीं था कि उसकी परी आज राज्यभर की आंखों का तारा बन चुकी थी। उसको 500 में से 489 अंक प्राप्त हुए थे।

पास जाकर बैठते ही पिता ने पूछा बेटा तनु इतनी दौड़ क्यों आई? तनु ने दम भरती सांस के साथ अपने पिता की छांव में बैठकर बताया कि वह आज उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में पूरे यूपी में टॉपर रही हैं।

यह सुनकर पिता को विश्वास ही नहीं हुआ। उसने अपनी मार्कशीट दिखाई। दसवीं तक पढ़े हरेंद्र तोमर ने अपनी लाड़ली की मार्कशीट को निहारा और फिर बिटिया के सिर पर हाथ फेरते हुए खूब सारा लाड़ और आशीर्वाद दिया।

तनु तोमर की प्रतिभा को आज न केवल उत्तर प्रदेश, बल्कि पूरा भारत बखान कर रहा है, लेकिन उस छुपी हुई प्रतिभा को निखारने के लिए जिस पिता ने खेत में पसीना बहाया, वह आज खुशबू बन गया है। तनु तोमर देश की सेवा करने का जज्बा रखती हैं, वह सिविल सेवा में जाने की इच्छुक हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।