हनुमान बेनीवाल की यह बातें आपको भी अचंभित कर देगी…

12
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर/नागौर।

राजस्थान में विधानसभा के चुनाव होने हैं। 11 तारीख को इन चुनावों के नतीजे आएंगे। बुधवार शाम को 5:00 बजे तक सभी पार्टियों के दिग्गज नेताओं, प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं ने खुलकर प्रचार प्रसार किया।

प्रचार को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने जहां राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केंद्र के एक दर्जन नेता, उत्तर प्रदेश के फायरब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ समेत कुल मिलाकर 223 रेलिया की।

भारतीय जनता पार्टी की तरफ से प्रधान नरेंद्र मोदी ने प्रदेश की 100 सीटों पर 12 सभाएं, अमित शाह ने 45 सीटों पर 20, वसुंधरा राजे ने 120 सीटों पर 75, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 25 सीटों पर 17 और योगी आदित्यनाथ ने 30 विधानसभा सीटों पर 24 रैलियां की।

इसी तरह से नितिन गडकरी ने 3 विधानसभा सीटों पर 3, स्मृति ईरानी ने 3 सीटों पर 8, चौधरी बिरेंदर सिंह ने 4 सीटों पर चार, हेमा मालिनी ने 4 विधानसभा सीटों पर 4, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 6 सीटों पर 6 सभाएं कीं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने 3 सीटों पर 3, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने 1 विधानसभा सीट पर एक, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 5 सीटों पर 5 सभाएं, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने एक सीट पर एक, इसके अलावा प्रदेश के अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने 40 सीटों पर 40 सभाएं की हैं।

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने 9 सभाएं कीं, इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने ताबड़तोड़ रैलियां की। पार्टी की तरफ से कुल 433 सभाएं हुई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 30 सीटों पर 9, सचिन पायलट ने 150 सीटों पर 230, अशोक गहलोत ने 100 पर 100, राज बब्बर ने 20 सीटों पर 20, नवजोत सिंह सिद्धू ने 15 सीटों पर 15 सभाएं की हैं।

इसी प्रकार आचार्य प्रमोद ने 15 विधानसभा सीटों पर 15, अहमद पटेल ने तीन जगह 3, मुकुल वासनिक ने 4 विधानसभा सीटों पर चार, कुमारी शैलजा ने 5 और गुलाम नबी आजाद ने 3 विधानसभा सीटों पर 3 सभाएं की हैं।

कांग्रेस के नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 5 विधानसभा सीटों पर पांच सभाएं कीं, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने 4 सीटों पर 4, मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 8 सीटों पर 8, मध्य प्रदेश के ही नेता दिग्विजय सिंह ने 6 सीटों पर 6 और अभिनेत्री अमीषा पटेल ने 6 विधानसभा सीटों पर छह जगह रैलियों में हिस्सा लिया है।

इधर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हनुमान बेनीवाल ने भी अकेले ताबड़तोड़ रैलियां कीं। हनुमान बेनीवाल ने जयपुर, सीकर, नागौर, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, अलवर जिलों की 57 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के लिए जनता से वोट मांगे।

भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने जहां एक दूसरे के ऊपर जमकर कीचड़ उछाला, वहीं दूसरी तरफ हनुमान बेनीवाल ने इन दोनों पार्टियों को मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए प्रदेश से उखाड़ कर बाहर फेंकने का आह्वान किया।

बेनीवाल ने अपनी तमाम रैलियों में किसानों के कर्ज माफ करने, बिजली के बिल फ्री करने, जवानों को नौकरी देने, बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया। वहीं दूसरी तरफ अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे के द्वारा एक दूसरे के भ्रष्टाचारियों को बढ़ावा देने का आरोप लगाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह ने जहां कांग्रेस पार्टी पर पुराने भ्रष्टाचार ढकने और नामदार की 4 पीढ़ियों का हिसाब मांगा, वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लगातार अपनी सभाओं में 5 साल के कार्यकाल की योजनाओं को जनता के बीच रखा।

इधर, कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर रफाल मामले में भ्रष्टाचार करने के अलावा विजय माल्या, ललित मोदी, नीरव मोदी जैसे बड़ों का नाम जोड़कर खूब कीचड़ उछाला।

हनुमान बेनीवाल ने जहां मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर जमकर हमले किए, तो दूसरी तरफ मिर्धा परिवार की लाडली ज्योति मिर्धा के द्वारा आरोप लगाए जाने का अंतिम दिन मुंहतोड़ जवाब दिया।

बेनीवाल ने अपनी तमाम सभाओं में वीर तेजाजी के जयकारे लगाए, तो साथ ही साथ प्रचार के आखिरी दिन अपनी अंतिम सभा में खुद को वीर तेजाजी का भक्त बताते हुए विरोधियों से बदला लेने का दावा भी कर दिया।