कहा गुमराह करके वर्षो तक सत्ता हासिल की इन्होंने
Delhi /Jaipur

बुधवार को लोकसभा में राजस्थान के नागौर से रालोपा सांसद हनुमान बेनीवाल ने गृह विभाग और वित्त विभाग से जुड़े 2 अलग -अलग बिलो की चर्चा में भाग लिया।

बेनीवाल ने विधि विरुद्ध क्रिया कलाप निवारण संसोधन विधेयक की चर्चा पर बोलते हुए कहा कि देश एक बहुत बड़ी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहा है।

एनआईए से जुड़े संसोधित बिल के बाद आज यह एक और बिल साबित कर रहा है कि आंतक के खिलाफ हम कितनी मजबूती से लड़ रहे है।

उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करवाने के लिए बड़ी दृढ़ इच्छा के साथ देश के गृह मंत्री अमीत शाह आगे बढ़ रहे है।

गृह मंत्री अमित शाह की मुस्कुराहट पर विपक्ष को रास नहीं आया बेनीवाल का बयान

सांसद हनुमान बेनीवाल ने सदन में चर्चा के दौरान कहा कि जब भी देश हित में कोई निर्णय लिया जाता है या अंतक विरोधी कोई बिल लाया जाता है तो विपक्ष में बैठे लोगों को बड़ी तकलीफ होती है।

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने आंतकवाद को पनपाने में बहुत बड़ी शह दी है। जिस पर सत्ता पक्ष में बैठे सांसदों ने जहां मेजे थपथपाई, वहीं गृह मंत्री अमीत शाह भी बेनीवाल द्वारा कोंग्रेस पर छोड़े जा रहे शब्दबाणों से मुस्कुरा रहे थे, मगर विपक्ष ने हंगामा करना शुरू कर दिया।

सांसद ने सदन में कहा कि हमारी नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी को इतना मजबूत बनाया की अब आंतक और उनके मददगारों को विदेश से भी पकड़ कर ले आएंगे।

वाजपेयी को किया याद

बेनीवाल ने सदन में कहा कि 1998 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने मजबूत इच्छा शक्ति से पोकरण में परमाणु परीक्षण किया और अमेरिका तक को यह बता दिया कि भारत कितना सक्षम है।

चिट फंड कंपनियों पर लगाम लगाएगा यह बिल

सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि भ्र्ष्टाचार के खात्मे के लिए मोदी सरकार का यह बहुत बड़ा कदम है। यह बात सांसद हनुमान बेनीवाल ने जमा योजना प्रतिबंध विधेयक की चर्चा के दौरान लोकसभा में कही।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की दृढ़ इच्छाशक्ति और वित्त मंत्री और वित्त राज्य मंत्री की आम आदमी के हितों को ध्यान में रखते हुए और उनके संरक्षण के लिए लाए गए।

बिल में गैर कानूनी तरीके से बिना नियम कायदे चल रही योजनाओं व सोसायटियों पर अंकुश लगेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि आज हर राज्य के लोग चिटफंड की धोखाधड़ी से पीड़ित है और सबसे ज्यादा इसके शिकार गरीब लोग तथा बेरोजगार लोग होते हैं।

उन्होंने कहा कि अब तक नियामक की खामियों और शक प्रशासनिक उपायों का अभाव में चिटफंड से जुड़ी कंपनियों के लोग इसका फायदा उठाकर योजनाएं चलाते थे और पकड़े जाने पर जमानत ले लेते थे मगर यह बिल आने के बाद निश्चित तौर पर ऐसे पृष्ठभूमि के लोगों पर अंकुश लगेगा।

उन्होंने जयपुर, गंगानगर सहित विभिन्न स्थानों पर चिटफंड कंपनी द्वारा की गई धोखाधड़ी का हवाला दिया साथ ही कहा कि 50 सालों तक देश में जिस तरह कांग्रेस ने लोगों को गुमराह करके शासन किया ठीक उसी तरह चिटफंड कंपनियां लोगों को प्रलोभन देकर पैसे उठाती है, इसलिए उनके खिलाफ अब सख्त कार्यवाही हो सकेगी।