Nationaldunia

जयपुर।
राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल द्वारा विधानसभा में सरकार पर दबाव बनाने के लिए जाट समाज के भी गुर्जरों के पक्ष में आकर आंदोलन करने की चेतावनी के बाद सकते में आई सरकार ने अहम फैसला लिया है।

सरकार ने गुर्जरों को 5 फीसदी आरक्षण देने के लिए केंद्र सरकार के पास प्रस्ताव भेजने और सवर्णों के लिए केंद्र सरकार से पास कानून के अनुसार 10 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान को लागू करने के लिए आज सदन में प्रस्ताव पेश किया जाएगा।

कल प्रदेश सरकार की कैबिनेट ने इन दोनों को मंजूरी दे दी है। अब आज इनको सदन में पेश किया जाएगा। संसदीय कार्यमंत्री महेश जोशी के द्वारा इनको पेश किया जाएगा और उसपर सभी दलों द्वारा अनुमोदन किये जाने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि आज 6वें दिन लगातार गुर्जरों ने प्रदेश के पांच जिलों के आरक्षण को लेकर उग्र आंदोलन छेड़ रखा है। इसके चलते कई ट्रैनें और बसों को रद्द किया गया है। मामले को लेकर सदन में बेनीवाल ने सरकार को सोमवार को कड़ी चेतावनी दी थी।