जयपुर।

निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल द्वारा आज राजधानी में किसान हुंकार महारैली का आयोजन किया जा रहा है।

रैली की तैयारियों और उसमें प्रदेश भर से उमड़ी हुई भारी भीड़ को देखकर कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों की नींद उड़ चुकी है।

लंबे समय से राजस्थान की राजनीति पर गहरी निगाहें रखने वाले लोगों का मानना है कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में 2013 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के बाद यह सबसे बड़ी रैली है।

कुंभ का मेला नहीं, यह हनुमान बेनीवाल के समर्थकों की भीड़ है, उड़ाई बीजेपी-कांग्रेस की नींद 1

राजधानी की सड़कों पर भीड़ देखकर हनुमान बेनीवाल के प्रति किसानों और युवाओं का लगाव सहज ही नजर आ रहा है। यही लगाव कांग्रेस और बीजेपी दोनों दलों के लिए चिंता का विषय बन गया है।

बाड़मेर, जोधपुर, पाली, बीकानेर, अजमेर, नागौर, चूरू, सीकर, झुंझुनू, समेत जयपुर के आसपास के जिलों से उमड़ी भीड़ के चलते बेनीवाल के समर्थक बेहद खुश है, वहीं जयपुर पुलिस प्रशासन के लिए सुरक्षा इंतजामात करना बेहद कठिन हो गया।

कुंभ का मेला नहीं, यह हनुमान बेनीवाल के समर्थकों की भीड़ है, उड़ाई बीजेपी-कांग्रेस की नींद 2

अपने चहेते किसान नेता के द्वारा जयपुर में आयोजित महारैली को सफल बनाने के लिए दूरदराज के जिलों के युवा कल से ही रवाना हो गए थे। बेनीवाल के प्रति युवाओं की दीवानगी देखते ही बन रही है।

ट्रेनों, बस, खुद के वाहनों और जैसे भी जयपुर में आ सकते थे, वैसे ही किसान और युवा अपने चहेते नेता के द्वारा नई पार्टी का ऐलान करने के लिए आयोजित सभा में शामिल होने जयपुर पहुंच रहे हैं।

कुंभ का मेला नहीं, यह हनुमान बेनीवाल के समर्थकों की भीड़ है, उड़ाई बीजेपी-कांग्रेस की नींद 3

मानसरोवर में शिप्रा पथ थाने के सामने खुले मैदान में जो भीड़ देखने को मिल रही है, उससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि राजस्थान की जनता कांग्रेस और बीजेपी के पांच 5 साल के सरकार बनाने के बावजूद विकास नहीं करने को लेकर खासे गुस्से में है।

कुंभ का मेला नहीं, यह हनुमान बेनीवाल के समर्थकों की भीड़ है, उड़ाई बीजेपी-कांग्रेस की नींद 4

लाखों किसानों और युवाओं की भीड़ को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है मानों जयपुर में कुंभ का मेला लग गया हो। लेकिन जैसा कि पहले ही बेनीवाल ने कह दिया था कि ऐसी महा रैली का आयोजन करेंगे, जो बरसों बरसों तक राजस्थान की राजनीति के लिए मिसाल साबित होगी।

और खबरों के लिए फेसबुक और ट्वीटर और यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।