हनुमान बेनीवाल समेत ये छात्रनेता हैं चुनावी महाभारत के कुरुक्षेत्र में—

3
nationaldunia
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

भाजपा और कांग्रेस पार्टी ने कई छात्रनेताओं और पूर्व छात्रनेताओं को भी चुनावी महाभारत के कुरुक्षेत्र में उतारा है। दोनों पार्टियों के अलावा राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल भी कुछ छात्रनेताओं के साथ खुद मैदान में उतरे हैं।

भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान विवि के 11 पूर्व छात्रसंघ अध्यक्षों को टिकट देकर मैदान में उतारा है।

कांग्रेस ने अपने 7 पूर्व छात्रसंघ अध्यक्षों को प्रत्याशी मैदान में है। इधर, बीजेपी ने भी 3 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। खुदकी पार्टी बनाकर मैदान में उतरे निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने ताल ठोकी है।

बड़े नामों की बात करें तो पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, कालीचरण सराफ, राजपाल सिंह शेखावत, रघु शर्मा, महेंद्र चौधरी, हनुमान बेनीवाल शामिल हैं।

इनमें से अधिकांश दिग्गज आज छात्र राजनीति से निकलकर सियासत में खुद को स्थापित कर चुके हैं। राज्यसभा सांसद और भाजपा के महासचिव भूपेन्द्र यादव भी कॉलेज की राजनीति से निकले हैं। आमेर विधानसभा से बीजेपी का टिकट पाने वाले सतीश पूनिया भी छात्र राजनीति से आ गया हैं।

इनके चोमू से बीजेपी विधायक और वर्तमान प्रत्याशी रामलाल शर्मा राजस्थान विश्वविद्यालय के महासचिव रह चुके हैं। बगरू विधानसभा से दूसरी बार टिकट पाने में कामयाब रहे कैलाश वर्मा राजस्थान विश्वविद्यालय में उपाध्यक्ष रह चुके हैं।

इस क्रम को जारी रखते हुए दोनों ही प्रमुख दलों ने राजस्थान विधानसभा के चुनावी समर में कई छात्रनेताओं को मैदान उतारा है। बीजेपी और कांग्रेस ने उन दिग्गजों पर भरोसा जताया है।

जिन्होंने छात्र राजनीति से प्रदेश की सियासत में अपना अहम मुकाम हासिल किया है। इन सबमें हनुमान बेनीवाल तो ऐसे नेता हैं, जिन्होंने अपनी पार्टी बनाकर राज्य की सियासत को नया रंग दे ड़ाला है।

इनमें प्रताप सिंह खाचरिवास और मनीष यादव अपनी पार्टियों के अग्रिम छात्र संगठन से अलग जाकर टिकट पाने में कामयाब रहे हैं। खाचरियावास और यादव एबीवीपी से छात्रसंघ अध्यक्ष बने थे।

ये छात्रनेता पहली बार चुनावी कुरुक्षेत्र के मैदान में हैं—

—मनीष यादव शाहपुरा से कांग्रेस उम्मीदवार
—पुष्पेंद्र भारद्वाज सांगानेर से कांग्रेस के उम्मीदवार
—रामनिवास गावडिया कांग्रेस के टिकट पर परबतसर से —नरसी किराड कठूमर से आरएलपी के उम्मीदवार बनें हैं
—मुकेश भाकर कांग्रेस के टिकट पर लाडनूं से प्रत्याशी

पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष भी फिर से उम्मीदवार—

—राजकुमार शर्मा तीसरी बार नवलगढ़ से कांग्रेस के प्रत्याशी बनें हैं
—प्रतापसिंह खाचरियावास सिविल लाइंस से कांग्रेस उम्मीदवार हैं
—रघु शर्मा कांग्रेस के टिकट पर केंकड़ी से प्रत्याशी
—महेश जोशी किशनपोल से कांग्रेस प्रत्याशी हैं

कांग्रेस की ओर से 7 पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष उम्मीदवार हैं—

—मनीष यादव 2010-11 छात्रसंघ अध्यक्ष रहे थे
—पुष्पेंद्र भारद्वाज 2002-03 में रहे छात्रसंघ अध्यक्ष बने थे
—राजकुमार शर्मा 1999-2000 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—प्रतापसिंह खाचरियावास 1992-93 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—रघु शर्मा 1981-86 में विवि के छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—महेश जोशी 1979-80 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—रामनिवास गावडिया लॉ कॉलेज में अध्यक्ष रहे हैं
—मुकेश भाकर भी छात्रसंघ में दो साल तक किंकमेकर की भूमिका में रहे हैं

भाजपा ने 3 अध्यक्ष प्रत्याशी बनाए—

—राजपाल सिंह शेखावत 1980-81 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—कालीचरण सराफ 1974-75 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—राजेंद्र राठौड़ 1978-79 में छात्रसंघ अध्यक्ष थे
—अशोक लाहोटी भी 2001-2003 में अध्यक्ष थे
-सतीश पूनिया भी छात्रसंघ के चुनाव लड़ चुके हैं
-रामलाल शर्मा भी विवि के छात्रसंघ महासचिव रहा हैं
-कैलाश वर्मा उपाध्यक्ष रहे हैं

खबरों के लिए फेसबुक, ट्वीटर और यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।