Hanuman Beniwal has done political politics of Vasundhara Raje?
Hanuman Beniwal has done political politics of Vasundhara Raje?

नागौर।
राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे का का राजनीतिक करियर खत्म कर दिया है।

वसुंधरा राजे से लगातार 10 साल तक व्यक्तिगत लड़ाई लड़ रहे हनुमान बेनीवाल ने इसको अंजाम तक पहुंचा दिया है। हालात यह कर ​दी है कि वसुंधरा राजे खींवसर और मंड़ावा में प्रचार करने भी नहीं जा पा रही हैं।

बता दें कि बीते दिनों ही बेनीवाल ने कहा था कि अगर वसुंधरा राजे का प्रमोशन किया गया तो वह गठबंधन तोड़ने पर विचार कर सकते हैं। हालांकि, बाद में उनका भाजपा के साथ गठबंधन हो गया और राजे को इस चुनाव से दूर हटना पड़ गया।

इधर, भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया का कहना है कि वसुंधरा राजे किसी कार्य में व्यस्त होने के कारण चुनाव प्रचार में शामिल नहीं हो पाई हैं, यदि समय मिला तो वो जरूर शामिल होंगी।

हालांकि, इस बीच वसुंधरा राजे का हरियाणा या महाराष्ट्र चुनाव में भी इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है, जिसके चलते यह बात साफ हो गई है कि अब राजनीति में उनके दिन लद गये हैं।

बता दें कि खींवसर में हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण बेनीवाल भाजपा—रालोपा के संयुक्त उम्मीदवार हैं, तो मंड़ावा में सुशीला सिगड भाजपा—रालोपा की संयुक्त उम्मीदवार हैं।