Nationaldunia

-आज जयपुर-सवाईमाधोपुर ट्रेक भी किया जाम, सीकर, टोंक समेत कई जगह गुर्जरों ने रास्ता रोका

जयपुर।
प्रदेश में बीते 6 दिन से चल रहे गुर्जर आरक्षण आंदोलन को सरकार खत्म करने में नाकाम साबित हो रही है। आंदोलन को आज सातवां दिन है।

भले ही कल विधानसभा में गुर्जर समाज को 5 प्रतिशत आरक्षण का बिल पास कर केंद्र सरकार को भेजने की प्रक्रिया कर दी गई हो, लेकिन बावजूद इसके गुर्जर अब भी रेलवे ट्रेक पर जमे हुए हैं।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के प्रवक्ता शेलेंद्र सिंह ने कहा है कि जब तक विधानसभा में पारित बिल हमें मिल गया है, लेकिन जो बिल है उसको कोर्ट में चैलेंज किए जाने या नहीं किए जाने की स्थिति स्पष्ट होने पर ही फैसला लिया जाएगा, तब तक आंदोलन यथावत जारी रहेगा।

आज दोपहर करीब साढ़े 12 बजे बिल का मसौदा लेकर नीरज के पवन ने गुुर्जरों को दिया। इससे पहले आरक्षण के लिए आंदोलनरत गुर्जरों ने आज सुबह जयपुर-सवाई मोधपुर रेलवे ट्रेक को भी जाम कर दिया।

कल सीकर और टोंक में डिग्गी नुक्कड के पहले भी गुर्जर समाज के लोगों ने चोसला में रोड को जाम किया। हालांकि, कल सदन में बिल पास होने के बाद शाम को लोग सड़क से हट गए।

इधर, सरकार आज विधानसभा में पारित बिल की कॉपी ट्रैक पर नीरज पवन ने सौंपी, लेकिन पहले चरण की बातचीत के बाद भी गुर्जरों ने आंदोलन खत्म करने से इनकार कर दिया है।

इससे पहले आईएएस नीरज के पवन के हाथ यह बिल आज दोपहर भेजा गया। नीरज के पवन खुद भरतपुर में डेरा जमाए बैठे थे।

कल भी बिल पास होने के वक्त सरकारी नुमाइंदगी के लिए वह मलारना डूंगर गए थे, लेकिन बैंसला ने मानने से इनकार कर दिया था।

बिल केंद्र सरकार को भेजने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। आज शाम तक आंदोलन खत्म होने की संभावना जताई जा रही है।

नीरज पवन ने आज बिल की कॉपी के साथ ही राज्यपाल का गजट नोटिफिकेशन की कॉपी दी गई। उसके बाद गुर्जर समाज ने विधि विशेषज्ञों से अध्ययन करवाने की बात कही है।

गुर्जर समाज का कहना है कि बिल अगर कोर्ट में नहीं अटकता है तो आंदोलन खत्म किया जाएगा, वरना इस बार धोखा नहीं खाया जाएगा। बैंसला ने बिल के अध्ययन करने के बाद आंदोलन खत्म करने की बात कही है।

Leave a Reply