जयपुर/बारां।

राज्य में सरकार बदलने के साथ ही किसानों के लिए पुराने दिन ताज़ा हो गए हैं। आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शपथ ली है, लेकिन इससे एक दिन पहले ही किसानों को यूरिया खाद की जगह लाठियां मिली हैं।

यूरिया खाद लेने की लिए लाइनों में लगे किसानों की हिम्मत तब जवाब दे गई, जब घण्टों खड़े रहने के बाद भी खाद नहीं मिला। आखिर किसान बेकाबू हो गए, इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिसमें लोकेश लोधा नामक किसान को गंभीर चोट लगी है।

सरकार बदलते ही किसानों को यूरिया की जगह मिली लाठियां 1

पुलिस अधीक्षक परमार सिंह ने बताया कि करीब 500 किसानों की भीड़ बेकाबू हो गई थी। जिसके कारण पुलिस को काबू करने के लिए लाठियां चलानी पड़ी। इसी में एक किसान घायल हो गया है। इस मामले को लेकर पुलिस पर एफआईआर दर्ज की गई है।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने राज्य में सत्ता मिलने पर किसानों का सम्पूर्ण कर्ज़ा माफ करने का वादा किया था। आज सरकार बन चुकी है, और 10 दिन कर्जमाफी करनी है।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार द्वारा 2014 में सत्तारूढ़ होते ही यूरिया की किल्लत से निपटने के लिए नीम कोटेड यूरिया करने का कदम उठाया था, जिससे काफी राहत मिली।

सरकार बदलते ही किसानों को यूरिया की जगह मिली लाठियां 2

इसके बाद यूरिया को लेकर कभी कोई अनहोनी की खबर नहीं आई, किन्तु अब जबकि राज्य में कांग्रेस की सरकार बन चुकी है तो दूसरे ही दिन राज्य के किसानों को यूरिया के लिए पुलिस की लाठियां खानी पड़ी हैं।

यह मुद्दा विपक्ष के लिए बहुत बड़ा मौका है, जब राज्य में 15वीं विधानसभा का पहला सत्र शुरू होने जा रहा है तो भाजपा इस मामले को लेकर सरकार को घेरने का काम कर सकती है।

इधर, हनुमान बेनीवाल ने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा है कि सरकार या तो समझ जाएं, नहीं तो प्रदेश का किसान राज्य के मुख्यमंत्री की सारी अकल ठिकाने ला देगा। उन्होंने कहा है कि 4 माह बाद लोकसभा चुनाव होने हैं, सारी हेकड़ी निकल जायेगी।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।