kalyan singh narendra modi
kalyan singh narendra modi

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। चुनाव आयोग ने राज्यपाल कल्याण सिंह को आदर्श आचार संहिता का दोषी माना है।

इसकी जांच करने के बाद आयोग ने राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखकर कल्याण सिंह पर कार्यवाही करने की अनुषंशा की है।

आपको बता दें कि 23 मार्च को राज्यपाल कल्याण सिंह ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा था कि, ‘हम सभी लोग भाजपा के कार्यकर्ता हैं, और इस नाते से हम जरूर चाहेंगे कि भाजपा विजयी हो। सब चाहेंगे कि एक बार फिर से केंद्र में मोदीजी प्रधानमंत्री बनें। मोदीजी का प्रधानमंत्री बनना इस देश के लिए आवश्यक है, समाज के लिए आवश्यक है।’

दरअसल, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह 23 मार्च 2019 को अलीगढ़ में अपने आवास पर मौजूद थे, तभी भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने अलीगढ़ के मौजूदा सांसद सतीश गौतम को फिर से टिकट देने के विरोध में उनके पास पहुंचे थे।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनसे टिकट बदलवाने की मांग की थी। जब कल्याण सिंह ने इस हंगामे को नजरअंदाज किया तो कार्यकर्ताओं ने उनकी कार को घेर कर नारेबाजी करने लगे।

फिर कल्याण सिंह ने कार से नीचे उतर कार्यकर्ताओं को समझाते हुए कहा कि देश हित और समाज हित में मोदी को पीएम बनाना जरूरी है।

चुनाव आयोग ने अलीगढ़ के जिला निर्वाचन अधिकारी चंद्रभूषण सिंह से मौखिक जानकारी मांगी थी। चुनाव आयोग ने कल्याण सिंह के बयान की रिकॉर्डिंग की जांच, जिसमें सामने आया कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

आपको याद दिला दें कि साल 1990 में इसी तरह के एक मामले में हिमाचल प्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल गुलशेर अहमद को भी अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

तब राज्यपाल गुलशेर अहमद के बेटे सईद अहमद मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ रहे थे। राज्यपाल गुलशेर अहमद अपने बेटे सईद अहमद का चुनाव प्रचार करने के लिए पहुंचे थे।

तब चुनाव आयोग ने दोषी मानते हुए उनको नोटिस दिया थी। उसके बाद गुलशेर अहमद को राज्यपाल पद से इस्तीफा देना पड़ा।

आपको बता दें कि संवैधानिक पद पर बैठा हुआ कोई भी व्यक्ति किसी राजनीतिक दल समर्थन या विरोध नहीं कर सकता। इस दायरे में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यपाल, चुनाव आयोग के आयुक्त, लोकसभा अध्यक्ष, विधानसभा अध्यक्ष आते हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।