gokhale chhatrawas
gokhale chhatrawas

—दोस्त के माता-पिता को सौपा 1.36 लाख का चेक
जयपुर।
महाराजा कॉलेज के गोखले छात्रावास के पूर्व एवं वर्तमान छात्रों ने सामाजिक सरोकार की एक मिशाल पेश की है।

अलवर जिले में थानागाजी के ग्राम नरहैट निवासी द्वितीय श्रेणी अध्यापक भवानी शंकर मौर्य की 15 दिसम्बर को स्कूल जाते समय दौसा हाईवे पर सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी थी, वे एक निर्धन किसान परिवार से ताल्लुक रहते थे।

भवानी ने वर्ष 2011 में गोखले छात्रावास में रहकर बीएससी की पढ़ाई की थी। गोखले छात्रावास की यह हमेशा से परम्परा रही है कि यहां से पढ़ाई करने के बाद भी अपने पूर्व व वर्तमान छात्रवासियो के हर सुख-दुख में भागीदार बनते है।

कुछ दिनों पहले भवानी के पिताजी सुंदरलाल मौर्य की रीढ़ की हड्डियों का आॅपेरशन हुआ था, ऐसे में उनके सभी साथियों और सीनियर्स ने मिलकर 1.36 लाख की सहायता राशि इकट्ठी कर उनके माता-पिता को चेक सौंप दी।

इस सामाजिक सरोकार में भूमिका निभाने के लिए पूर्व छात्रावासी कंवर सेन यादव ने सभी को प्रेरित किया।

इस दौरान छात्रावास के पूर्व छात्र अकाउंटेंट प्रदीप सूरा, राजस्थान विश्वविद्यालय के असिस्टेन्ट प्रोफेसर सत्यपाल पूनिया, अरुण ढाका, रोहिताश्व राव, नगेन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे।