gajendra singh shekhawat bjp
gajendra singh shekhawat bjp

जयपुर। केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके पुत्र मोह के कारण प्रदेश में कई विकास कार्य ठप्प हो गये हैं।

राज्यभर में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के कार्यकाल में शुरू किए गए कई महत्वपूर्ण विकास कार्य पिछले कुछ दिनों से ठप्प पड़ गए हैं, क्योंकि सरकार के मुखिया का ध्यान राज्य की बजाय बेटे को लोकसभा चुनाव लड़वाने में है। यही वजह है कि पूरे प्रदेश के काॅन्टैक्टर्स ने हल्ला बोलते हुए काम नहीं करने का फैसला किया है।

जोधपुर से भाजपा प्रत्याशी गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि गहलोत बार-बार ठेकेदारों की मांग और ज्ञापनों को नजरअंदाज करते रहे, जिसके बाद इन सबने काम करने से इनकार कर दिया और अब जनता से जुड़े कई महत्वपूर्ण कार्य भी अटक गए है।

पहले किसान, युवा और अब प्रदेश की बाकी जनता को भी राज्य की कांग्रेस सरकार की नाकामी का परिणाम भुगतने को मजबूर होना पड़ रहा है और इन सबकी वजह है मुख्यमंत्री का राज्य के बजाय पुत्र के लोकसभा क्षेत्र में अधिक ध्यान देना।

शेखावत ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी के लाॅलीपाॅप के चलते वैसे ही आर्थिक स्थिति ठीक न होने का हवाला देकर सरकार बार-बार आनाकानी कर रही है और अब काॅन्टैक्टर्स के इस फैसले के बाद सरकारी महकमे सकते में है।

इन सबके बीच हैरत करने वाली बात यह है कि राज्य की जनता से जुड़े विकास कार्य भले ही अटक जाए, लेकिन सूबे के उपमुख्यमंत्री का आलीशान दफ्तर पूरे जोर-शोर से तैयार हो रहा है, जिसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

ऐसे में प्रदेश की जनता और उनसे जुड़े विकास कार्यों को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत और उनकी सरकार की संवदेनहीनता किसी से छुपी हुई नहीं है।

करीब 3000 करोड़ से ज्यादा का भुगतान न होने की वजह से प्रदेश के कई अस्पतालों में चल रहे विकास कार्य, नए पुल, भवन और सड़कों का निर्माण ठप्प हो जाएगा, लेकिन पुत्र मोह में फंसे मुख्यमंत्री या उनके सिपहसालारों के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।