Alwar gang rape

जयपुर।
अवैध हथियारों के खिलाफ चलाए जा रहे राज्यव्यापी अभियान में अब तक 945 हथियार बरामद कर पुलिस ने 998 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

अलवर में सबसे अधिक हथियार जब्त हुए हैं। अलवर पुलिस ने 95 व्यक्तियों से 113 हथियार बरामद किए हैं। करौली इस मामले में दूसरे स्थान पर है, जहां 57 व्यक्तियों से 64 हथियार जब्त किए गए।

भरतपुर 53 व्यक्तियों से 59 हथियार बरामद कर तीसरे स्थान पर है।

सक्रिय अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे टॉप-10 अभियान में थाना स्तर के 1360, वृत स्तर के 426, जिला स्तर के 213, रेंज स्तर के 42 व राज्य स्तर के टॉप-25 में से 12 सक्रिय अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

इन गिरफ्तार अपराधियों में से कुल 220 इनामी अपराधी भी गिरफ्तार किए गए हैं। इनकी गिरफ्तारी पर 18 लाख रुपए के इनाम की घोषणा की गई थी।

सर्वाधिक इनाम राशि वाले अपराधियों की गिरफ्तारी में अलवर जिला पुलिस ने 18 इनामी अपराधियों को गिरफ्तार कर रुपए 82 हजार रुपए का पुरस्कार, कोटा शहर पुलिस द्वारा 21 इनामी अपराधियों को गिरफ्तार कर रुपए 52 हजार रुपए का पुरस्कार व कोटा ग्रामीण पुलिस द्वारा 15 इनामी अपराधियों को गिरफ्तार कर रुपए 41 हजार रुपए की पुरस्कार राशि जीती है।

चुनाव प्रक्रिया में 5 हजार 450 गिरफ्तार

लोकसभा चुनाव की प्रकिया के दौरान 1 मार्च से अब तक 5 हजार 450 स्थायी वांरटियों को गिरफ्तार किया गया हैं।

अतिरिक्त महानिदेशक अपराध बी. एल. सोनी ने बताया कि सर्वाधिक गिरफ्तारी चित्तौड़गढ में हुई है।

चितौड़गढ़ में 575, श्रीगंगानगर में 316 व उदयपुर में 300 अपराधियों की गिरफ्तारी की गई हैं। इसी प्रकार उद्घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी के अभियान में अब तक 42 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

इनमें से सर्वाधिक 10 कोटा शहर पुलिस द्वारा, 7 करौली पुलिस द्वारा व 5 कोटा ग्रामीण पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए हैं।