adarsh-credit-cooprative socaity
adarsh-credit-cooprative socaity

SOG की बड़ी कार्रवाई, देश के अलग अलग राज्यों में की छापेमारी, आदर्श कॉपरेटिव सोसायटी के 11 पदाधिकारियों को किया गिरफ्तार।

जयपुर। राजस्थान की SOG टीम ने 16000 करोड़ रुपए के घोटाले में 4 मोदी गिरफ्तार किए हैं। एटीएस—एसओजी के डीजी भुपेंद्र यादव ने बताया कि करीब एक माह की कड़ी मेहनत के बाद चारों आरोपियों को पकड़ लिया गया है।

SOG के डीजी यादव के अनुसार मुख्य आरोपी विरेंद्र मोदी, समीर मोदी, भारत मोदी, प्रियंका मोदी समेत 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि कॉपरेटिव सोयायटी के इन सभी पदाधिकारियों ने क़रीब 16 हज़ार करोड़ रुपए का घोटाला किया है।

एसओजी बीते करीब एक माह से इनको पकड़ने के लिए सबूतों के साथ मशक्कत कर रही थी। यादव ने बताया कि आदर्श कॉपरेटिव के इन पदाधिकारियों ने फ़र्ज़ी तरीक़े से निवेशकों के क़रीब एक हज़ार करोड़ रुपए आपस में बांट लिए थे। आदर्श कॉपरेटिव सोसायटी की देश में 800 से ज़्यादा से ब्रांचों में 10 हज़ार से ज़्यादा निवेशक हैं।

इस सोसायटी की राजस्थान में भी 500 से ज़्यादा ब्रांचें हैं, जिनमें 6 लाख से ज़्यादा निवेशकों ने पैसे इनवेंस्ट कर रखे हैं। डीजी यादव ने बताया कि इस सोसायटी ने विभिन्न बैंकों से 14000 करोड़ रुपए से ज़्यादा का ऋण भी ले रखा है।

जानकारी के अनुसार सोसायटी के इन आरोपी पदाधिकारियों ने 125 से ज़्यादा फ़र्ज़ी कम्पनियों बना राखी थीं। कई शिकायतों के बाद एसओजी पिछले एक महीने से इस बड़े ऑपरेशन में लगी हुई थी। पहले भी इसी मामले में मुकेश मोदी और राहुल मोदी की गिरफ़्तारी हो चुकी है, लेकिन वह जमानत पर छूट गए थे।