पांच साल के काम पर गर्व भी है और गौरव भी- राजे

19
nationaldunia
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

जयपुर।

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि पचास साल में जो विकास कांग्रेस नहीं करा सकी, वह हमने इन पांच सालों में करके दिखा दिया। इस काम पर हमें गर्व भी है और गौरव भी। इसीलिए हम गौरव यात्रा निकाल रहे हैं।

राजे टोंक, टोडारायसिंह एवं देवली शहर में आयोजित आम सभा में बोल रही थीं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि एक मुखिया अशोक गहलोत हुआ करते थे जो हमेशा कहते थे कि पैसा नहीं है।

कैसे विकास करवाऊं। जबकि मैंने विकास में कभी पैसे की कमी को आडे़ नहीं आने दिया। हमें इस बात का गर्व और गौरव है इसलिए गौरव यात्रा निकाल रहे हैं।

पचास साल तक कांग्रेस किसानों को बरगलाती, लेकिन किसानों का एक रूपया का कर्जा माफ नहीं किया। हमने इतिहास में पहली बार किसानों का पचास हजार रुपए तक का कर्जा माफ किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतिहास में पहली बार 625 करोड़ रुपये से 125 मंदिरों और 150 करोड़ से लोक देवताओं एवं महापुरूषों के करीब 50 पैनोरमा बनाने का काम किया।

हमें इस बात का गर्व और गौरव है इसलिए गौरव यात्रा निकाल रहे हैं। राजे ने कहा कि इतिहास में पहली बार हमारी सरकार ने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ ज्यादती करने पर फांसी की सजा का कानून बनाया।

जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक महिलाओं को संबल देने और आत्मनिर्भर करने के लिए काम किया। हमें इस बात का गर्व और गौरव है इसलिए गौरव यात्रा निकाल रहे हैं।

इस बार राजस्थान की जनता इतिहास बदलेगी और भाजपा की फिर से सरकार बनाएगी इसलिए गौरव यात्रा निकाल रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि साढ़े चार साल तक जो लोग नजर नहीं आए, जिन्हें विधानसभा में आमजन से जुड़ी बात रखने की फुर्सत नहीं थी वे चुनाव पास आते ही अचानक से प्रकट होकर जनता के हितैषी बनने की कोशिश में लगे हुए हैं।

हमें राजस्थान बदलना है। आप इतिहास बदलेंगे तो अगले पांच साल में राजस्थान नम्बर वन होगा। हम सभी मिलकर नया राजस्थान बनाने का काम करेंगे और सभी को गले लगाकर चलेंगे।

हमारी सरकार 1 करोड़ महिलाओं को डिजिटल फोन दे रही है। इस फोन के माध्यम से घर की मुखिया महिला को सरकार की सभी योजनाआें की जानकारी और उसका लाभ मिलेगा।

टोंक, देवली, उनियारा के 436 गांवों को बीसलपुर से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 542 करोड़ रुपए की परियोजना बनाई गई है।

इसमें पहला चरण पूरा हो गया है। फिलहाल देवली, उनियारा व टोंक शहरों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। दूसरे चरण में देवली, उनियारा व टोंक तहसील के 464 गांवों को पेयजल उपलब्ध कराने का काम प्रगति पर है।

400 करोड़ की लागत से टोंक-सवाई माधोपुर सड़क का काम चल रहा है। टोंक जिले में बिजली के रख रखाव कार्यों के लिए 200 करोड़ रुपये दिए हैं। इससे बिजली व्यवस्था में सुधार आएगा। मार्च 2019 तक हर घर में बिजली का कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य है।

सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर 28 से 30 सितम्बर तक पराक्रम पर्व मनाया जा रहा है। देश की सीमाओं की रक्षा के लिए तत्पर रहने वाले हमारे जांबाज सैनिकों और इस देश के लिए शहादत देने वाले शहीदों की याद में हर घर में दीया जलाएं और हमारे शहीदों को याद करें।

देश में पहली बार हमने 14 अगस्त को शहादत को सलाम कार्यक्रम के तहत बार्डर पर मानव श्रृंखला बनाकर हमारे जांबाज सैनिकों का हौसला बढ़ाने का काम किया।

हमारी सरकार 15 अगस्त 1947 के बाद शहीद हुए सैनिकों के आश्रितों को सरकारी नौकरी और पूर्व सैनिकों को राज्य सेवा में पांच प्रतिशत आरक्षण देने जा रही है।

वसुन्धरा राजे ने कहा कि हमारी सरकार ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट के माध्यम से पूर्वी राजस्थान के टोंक सहित 13 जिलों के पानी की समस्या का स्थायी समाधान करेगी।

करीब 37 हजार करोड़ रुपये की इस भाग्य बदलने वाली योजना से टोंक की पेयजल समस्या भी हमेशा के लिए दूर होगी। इस प्रोजेक्ट को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी सकारात्मक चर्चा हुई है।

बनास नदी से ब्राह्मणी नदी को जोड़ने के लिए 5 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजना लाने पर भी काम किया जा रहा है।

देश की राजनीतिक खबरें NATIONALDUNIA पर पढ़ें। देश भर की अन्य खबरों के ल‍िए बने रह‍िए WWW.NATIONALDUNIA.COM के साथ। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से। हमें आर्थिक मदद पेटीएम नंबर 9828999333 पर करें।