जयपुर

दशहरा आने से पहले ही सरकार के मुखिया का पुतला दहन कर युवाओं ने लोकतन्त्र की हत्या के आरोप में अशोक गहलोत के ख़िलाफ़ अपना विरोध दर्ज करवाया।

हनुमान बेनीवाल और रामेशवर ड़ूडी (Rameshwar Dudi), स्पर्धा चौधरी के समर्थन में मुख्यमत्री अशोक गहलोत का पुतला ज़लाकर अशोक गहलोत, सीपी जोशी और वैभव गहलोत के खिलाफ नारेबाजी की गई।

राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर वैभव गहलोत ने जीत हासिल की है। सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत ने (Rameshwar Dudi) डूडी गुट को हराकर 25-6 के अंतर से जीत हासिल की।

बेटे वैभव गहलोत के आरसीए के अध्यक्ष बनने के बाद गहलोत सवालों और आलोचनाओं से घिरते नजर आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए अब उनका पुतला फूंका गया।

डूडी (Rameshwar Dudi) व बेनीवाल समर्थकों का कहना है कि अशोक गहलोत ने किसान नेता की हमेशा राजनीतिक हत्या की है।

आरसीए चुनाव में भी सीएम गहलोत द्वारा धांधली कर किसान पुत्र की राजनीतिक हत्या की गई है।

जिसको लेकर जयपुर के 3 सेक्टर स्थित वीर तेजा जी मंदिर में हनुमान बेनीवाल और रामेशवर ड़ूडी (Rameshwar Dudi) और स्पर्धा चौधरी के समर्थन में मुख्यमत्री अशोक गहलोत का पुतला ज़लाया गया।

इस दौरान अशोक गहलोत, सीपी जोशी व वैभव गहलोत के खिलाफ नारेबाजी की गई।

डूडी (Rameshwar Dudi) समर्थकों का कहना है कि, राजस्थान का मुख्यमंत्री राजस्थान के युवा बेरोजगारों और किसानों के भविष्य को नहीं दिख रहा, वो अपने बेटे का भविष्य देख रहा है।

अशोक गहलोत ने हमेशा किसानों नेताओं की हत्या की, जिसकी आरएलपी कार्यकर्ता कड़ी निंदा करते हैं।

हनुमान बेनीवाल की तर्ज पर बेनीवाल और (Rameshwar Dudi) डूडी समर्थकों ने इसका बदला राजस्थान में खीवसर और मंडावा विधानसभा उपचुनाव में बदला लेने की बात कही।

साथ ही खींवसर उपचुनाव में हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण बेनीवाल को जीत दिलवाकर सीएम को सबक सिखने की बात कही।

इस दौरान स्पर्धा चौधरी, प्रदीप चौधरी, बाबूलाल रेहडा ,शंकर ओला, दिनेश जाट बाबुलाल देवंदा, मुकेश पूनिया, रामराज देवपुरा, प्रदीप नला सहित सैकड़ों आरएलपी कार्यकर्ता मौजूद रहे।