31 C
Jaipur
शनिवार, सितम्बर 19, 2020

सोमनाथ मंदिर से कंगना रनौत की उद्धव ठाकरे को चुनौती, इस तरह समझाई खात्मे की तस्वीर

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री और हाल ही में बॉलीवुड में ड्रग कनेक्शन को लेकर खुलासे करने वाली कंगना रनौत ने अब एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सोमनाथ मंदिर के बहाने उसके क्रूर अंत के बारे में समझाने का काम किया है।

कंगना राणावत ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए सोमनाथ मंदिर की पूजा अर्चना करती हुई खुद की फोटो अपलोड अपलोड की है। उद्धव ठाकरे को लिखा है कि सोमनाथ का मंदिर का इतिहास पढ़ लीजिए चाहे शासक कितना भी शक्तिशाली और क्रूर क्यों न हो, किंतु एक दिन उसका अंत होता है और सत्य की विजय होती है।

सोमनाथ मंदिर से कंगना रनौत की उद्धव ठाकरे को चुनौती, इस तरह समझाई खात्मे की तस्वीर 1

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व सोमनाथ में भगवान महादेव का एक भव्य व प्राचीन मंदिर था। उसको सातवीं सदी में वल्लभी के मैत्रक राजा ने दूसरी बार भव्यता से निर्मित करवाया।

किंतु आठवीं सदी में जिंदगी अरबी शासक जुनायद ने इसको नष्ट करवाने के लिए अपनी विशाल सेना भेजी थी, लेकिन गुर्जर प्रतिहार राजा नागभट्ट ने 815 ईसवी में सोमनाथ मंदिर का तीसरी बार उसी भव्यता के साथ निर्माण करवाया।

लेकिन इस भव्य मंदिर को सन 1025 में महमूद गजनवी के द्वारा इस पर अपने 5000 अतितियों के साथ हमला किया और उसको नष्ट कर दिया।

उस वक्त मंदिर के भीतर 50000 लोग पूजा अर्चना कर रहे थे। कहा जाता है कि सभी का कत्ल कर दिया गया था।

इसके बाद गुजरात के राजा भीम और मालवा के राजा भोज ने इसका पुनर्निर्माण करवाया। सन 1297 में जब दिल्ली सल्तनत में गुजरात पर कब्जा किया तो इसे पांचवीं बार तहस-नहस किया गया।

मुगल शासक औरंगजेब ने इसे फिर से 1706 में गिरा दिया। इस समय जो मंदिर खड़ा है, उसे भारत के गृहमंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल ने बनवाया है।

जिसे 1 दिसंबर 1995 को भारत के राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने इसको राष्ट्र को समर्पित किया। गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में बंदरगाह के पास स्थित इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इसका सबसे पहले खुद चंद्रदेव ने निर्माण करवाया था जिसका उल्लेख ऋग्वेद में भी मिलता है।

सौराष्ट्र का यह भव्य मंदिर हिंदू धर्म के उत्थान पतन और फिर से उत्थान का सबसे बड़ा प्रतीक है। देखने में अत्यंत वैभवशाली होने के कारण इस मंदिर को बार बार तोड़ा गया और विदेशी शासकों के द्वारा यहां से हजारों टन सोना और चांदी लूटने का स्पष्ट उल्लेख इतिहास में भरा पड़ा है।

कंगना रनौत ने पिछले दिनों मुंबई में उनके ऑफिस को तोड़े जाने के बारे में जिक्र करते हुए उद्धव ठाकरे सरकार को समझाने का प्रयास किया है कि चाहे शासक कितना भी क्रूर और अन्यायकारी क्यों न हो, लेकिन एक दिन उसका अंत होता है और सत्य की विजय होती है।

- Advertisement -
सोमनाथ मंदिर से कंगना रनौत की उद्धव ठाकरे को चुनौती, इस तरह समझाई खात्मे की तस्वीर 4
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

अगले साल अप्रैल तक हर अमेरिकी को उपलब्ध होगा कोविड का टीका: ट्रंप

वाशिंगटन, 19 सितंबर (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अप्रैल 2021 तक हर अमेरिकी के लिए कोरोनावायरस का टीका उपलब्ध होगा।...
- Advertisement -

शाचओ गांव में गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य कैसे हुआ साकार

बीजिंग, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। चीन के हूनान प्रांत का शाचओ गाँव पहले याओ जातीय बहुल एक गरीब गांव था। तब गांव में गरीब परिवारों...

सुनीत वर्मा ने डिजिटल आईसीडब्ल्यू में लॉन्च किया अपना कलेक्शन

पूजा गुप्तानई दिल्ली, 19 सितंबर (आईएएनएस)। डिजिटल इंडिया कूटुर वीक (आईसीडब्ल्यू) शुक्रवार को पहली बार ऑनलाइन आयोजित हुआ। इसमें देश की फैशन इंडस्ट्री के...

बांग्लादेश के कट्टरपंथी इस्लामवादी हिफाजत प्रमुख शफी का निधन

ढाका, 19 सितंबर (आईएएनएस) हिफाजत-ए-इस्लाम बांग्लादेश के अमीर, शाह अहमद शफी का 104 वर्ष की आयु में असगर अली अस्पताल में इलाज के दौरान...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

बाड़मेर: लड़की भगा ले गया शिक्षक, मिलते ही घरवालों ने किया ऐसा हाल

बाड़मेर। राजस्थान के सीमावर्ती जिले बाड़मेर में एक स्कूल के अध्यापक पर जानलेवा हमले और नाक व दोनों कान काटने की घटना सामने...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...

किसानों को बहकाने और बरगलाने का काम कर रहे कांग्रेस-वामपंथी दल

-मोदी सरकार के तीनों ही विधेयक क्रांतिकारी हैं, किसान को मिलेगी तरक्की, मजबूती और ताकत। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हमेशा किसानों,...
- Advertisement -