IAS की नौकरी छोड़ कंपनी शुरू की, पांच साल में खड़ा किया 11000 करोड़ का डिजिटल कारोबार

जयपुर। केवल 16 साल की उम्र में एम्स की परीक्षा पास कर डॉक्टर की पढ़ाई की उसके बाद 22 साल की आयु में आईएएस बनने में कामयाबी हासिल की, लेकिन कुछ समय बाद ही मध्य प्रदेश कैडर की आईएएस की नौकरी छोड़ कर खुद की कंपनी शुरू की। 5 साल बाद आज अपने दो दोस्तों के साथ 11000 करोड़ की कंपनी बना चुके हैं।

यह कहानी है जयपुर के पास कोटपूतली के रहने वाले रोमन सैनी, गौरव मुंजाल और उनके एक दोस्त की। तीनों दोस्तों ने मिलकर ऑनलाइन स्टडी के लिए अनकेडमी शुरू की।

आज की तारीख में अनकेडमी में भारत की 200 टॉप कंपनियों में शामिल है, जबकि ऑनलाइन स्टडी के लिए दुनिया की छठे नंबर की सबसे बड़ी कंपनी है।

रोमन सैनी मध्यप्रदेश कैडर के आईएएस बनने के बाद नौकरी छोड़ कर खुद की कंपनी शुरू की। उनके साथ जयपुर के ही उनके एक मित्र गौरव मुंजाल भी इस कंपनी में सह मालिक हैं।

कंपनी के ऑनलाइन स्टडी के लिए आज पूरे देश भर में 4. 4 लाख सब्सक्राइब हैं। अनअकैडमी 54 तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाती है, आईएएस की परीक्षा भी शामिल है।

पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के तहत जिन लोगों को आमंत्रित किया, उनमें अनअकैडमी के रोमन सैनी और गौरव मुंजाल भी शामिल है।

यह कंपनी आज की तारीख में है 11000 करोड़ का टर्नओवर करती है, जबकि इसी तरह की समकक्ष चार अन्य कंपनियों का टेकओवर कर चुकी है। आईपीएल के सीजन 13वें की यह कंपनी को- स्पॉन्सर है।

यह भी पढ़ें :  किसान आंदोलन में कूदे बेनीवाल, खट्टर सरकार को चेतावनी के साथ मोदी से मिलकर रखेंगे बात