अहमदाबाद।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की पहल पर बनाया गया सरदार पटेल का स्टेचू (Statue of unity) अब दुनिया के टॉप वंडर्स में शुमार हो गया है। भारत के ही ताजमहल (tajmahal) के बराबर कमाई देने वाला अजूबा बनता जा रहा है। यूं ही अगर रफ्तार बनी रही, तो एक दिन शायद दुनिया का 8वां अजूबा बन जाएगा।

आंकड़ों की बात करें तो बीते एक साल के दौरान इस स्टेचू को देखने के लिए देश दुनिया के 1.77 लाख लोग आए हैं। जबकि अकेले नवंबर 2019 में 38 लाख पर्यटकों ने सरदार पटेल की मूर्ति को देखा है।

बीते साल की बात की जाए तो ताजमहल से जहां 86 करोड़ की आमदनी हुई है, वहीं सरकार पटेल की मूर्ति से इस दरमियान 82 करोड़ की आय हुई है।

बीते साल जहां सरदार पटेल की मूर्ति देखने हर रोज 15036 लोग आए, वहीं अमेरिका की ​स्टेचू ओफ लिबर्टी को देखने केवल 10 हजार लोग पहुंचें।

इस साल क्रिशमिस के अवसर पर 6 दिन के भीतर स्टेचू ओफ यूनिटी के दर्शकों ने 3.6 करोड़ की आय दी है। यह दुनिया के सबसे अधिक कमाई वाले स्थानों में से हैं।