संसद की कैंटीन में सांसदों को अब नहीं मिलेगा सस्ता नास्ता-भोजन, 8 करोड़ की बचत होगी

नई दिल्ली। संसद में सांसदों को कैंटीन में खाने में नाश्ते में मिलने वाली सब्सिडी बंद करने की घोषणा कर दी गई है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सांसदों को 29 तारीख से शुरू होने वाले संसद सत्र के दौरान कैंटीन की सभी तरह की सब्सिडी को बंद कर दिया गया है।

इसके साथ ही अध्यक्ष ओम बिरला ने बताया कि संसद की कैंटीन का टेंडर उत्तर रेलवे के बजाय आरटीडीसी को दिया गया है। सांसदों को कैंटीन में प्रतिवर्ष मिलने वाली सब्सिडी की वजह से संसद पर 8 करोड में सालाना का अतिरिक्त व्यय आता था।

इसके साथ ही ओम बिरला ने बताया कि 29 जनवरी से शुरू होने वाले संसद सत्र से पहले सभी सांसदों पर कोविड-19 की जांच का वही नियम लागू होता है जो आम जनता के साथ होता है। सभी सांसदों के निवास के पास जांच की सुविधा उपलब्ध होगी।

लोकसभा की कार्रवाई सुबह 9:00 बजे से 2:00 बजे तक चलेगी, जबकि राज्यसभा की कार्यवाही श्याम को 4:00 बजे से लेकर 8:00 बजे तक संचालित होगी। साथ ही प्रश्नकाल का 1 घंटे का पूर्व का नियम यथावत लागू रहेगा।

यह भी पढ़ें :  आंसू बने अंगारे, 24 घण्टे में राकेश टिकैत के समर्थन में उमड़ा किसानों का जनसैलाब