rajasthan university

जयपुर।

राजस्थान विश्वविद्यालय के संघटक महाविद्यालयों के साथ ही प्रदेश के 200 से अधिक सरकारी महाविद्यालयों में इस बार प्रवेश प्रक्रिया एक साथ शुरू होगी।

राजस्थान विश्वविद्यालय के राजस्थान, कॉमर्स, महाराजा और महारानी कॉलेज में यूजी प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया एक जून से शुरू होगी।

इसी दिन प्रदेश के सभी सरकारी महाविद्यालयों के प्रथम वर्ष के सभी स्नातक पाठयक्रमों में प्रवेश के लिए आनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

राजस्थान विश्वविद्यालय और कॉलेज आयुक्तालय ने प्रवेश संबंधी गाइडलाइन जारी कर दी है।

यह रहेगा राजस्थान विश्वविद्यालय का कार्यक्रम
राजस्थान विश्वविद्यालय के यूजी और पीजी में प्रवेश लिए अभ्यर्थियों को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

जिसमें अभ्यर्थी बीए, बीकॉम, बीएएससी, पास कोर्स और आनर्स पाठयक्रम के लिए आवेदन कर सकेंगे। अभ्यर्थी एक जून से लेकर दस जून तक आनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

इसके बाद विश्वविद्यालय की ओर से आवेदन पत्रों की जांच का कार्य शुरू होगा। विश्वविद्यालय के तीन वर्षीय और पंचवर्षीय विधि महाविद्यालय के साथ ही पीजी विभागों में प्रवेश् एंट्रेस टेस्ट के आधार पर होगा।

यूजी में विद्यार्थी के बारवहीं के अंकों के आधार और छूट संबंधी प्रावधानों के आधार पर मैरिट लिस्ट जारी की जाएगी।

विश्वविद्यालय 29 जून को अंतिम प्रवेश सूची जारी कर देगा

सरकारी महाविद्यालयों में आवेदन कॉलेज आयुक्तालय की ओर से प्रवेश कार्यक्रम जारी कर दिया है।

कार्यक्रम के अनुसार प्रदेश के सभी महाविद्यालयों में अभ्यर्थी कॉलेज आयुक्तालय की वेबसाइट पर जाकर एक जून से प्रवेश के लिए आनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जून रखी गई है। इसके बाद आवेदन पत्रों की जांच की जाएगी।

पहली मैरिट लिस्ट 18 जून जारी की जाएगी

प्रवेश सूची में शामिल विद्यार्थी 25 जून तक अपना प्रवेश शुल्क जमा करवा सकेंगे। पहली प्रवेश सूची में शामिल नहीं होने वाले विद्यार्थियों की जगह सीट खाली रहने पर वेटिंग लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा।

इसके बाद 26 जून को प्रवेशित विद्यार्थियों की सूची जारी की जाएगी। जिसके बाद रिक्त रही कॉलेज की सीट पर प्रवेश दिए जाएंगे।

एक जुलाई को शुरू करनी है कक्षाएं

प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने के बाद विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को एक जुलाई से कक्षाएं शुरू करना चुनौती होगा।

क्योंकि कॉलेज आयुक्तालय और विश्वविद्यालय तय समय पर कक्षाएं शुरू करने में हर बार लेट हो जाता है।

सरकारी महाविद्यालयों की वेटिंग लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों का अगर प्रवेश हुआ तो वह उन्हें करीब दो सप्ताह की कक्षाओं को नुकसान होगा, क्योकि आयुक्तालय के अनुसार रिक्त सीटों के लिए आवेदन 2 जुलाई तक होंगे।

4 जुलाई को रिक्त सीटों के लिए सूची का प्रकाशन होगा। 8 जुलाई को मूल दस्तावेजों की जांच कराने के बाद 11 जुलाई तक उनकी प्रवेश प्रक्रिया पूरी होगी।