nationaldunia

जयपुर।

पांच राज्यों में इस साल के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग ने समय तय कर दिया है।

भोगोलिक दृष्टि से सबसे बड़े राज्य राजस्थान, देश के मध्य में स्थिति मध्य प्रदेश, नक्सलवाद से प्रभावित छत्तीसगढ़ और पूर्वोत्तर के मिजोरम और तेलंगाना में भी चुनाव के लिए आयोग ने कम कस ली है।

आज दोपहर बाद 3 बजे दिल्ली में चुनाव आयोग एक प्रेसवार्ता के जरिए चुनाव ने इन राज्यों के चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। आज सुबह से ही इस बात की पूरी संभावना थी।

इससे पहले प्रेसवार्ता दोपहर 12.30 बजे होने वाली थी, लेकिन बताया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी की अजमेर में हुई विजय संकल्प रैली के चलते समय बदलकर 3 बजे कर दिया गया।

इसके साथ ही चुनाव के लिए अधिसूचना भी जारी कर दी गई है। आचार संहिता लगने के बाद कोई भी सरकार अपने कार्यक्रम नहीं कर पाएगी। सभी राज्य सरकारों के अधिकार छीन लिए गए हैं, केवल कार्यवाहक सरकार होगी।

संभावना के मुताबिक नवंबर और दिसंबर के मध्य तक यह चुनाव सम्पन्न करवा लिए जाएंगे। अभी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सरकारें हैं।

मध्य प्रदेश में बीजेपी बीते 15 साल से राज कर रही है, वहीं राजस्थान में पांच साल हुए हैं। यहां पर 20 साल से हर पांच साल में सरकार बदलने का ट्रेंड हो गया है।

अब चुनाव यक इन राज्यों के मुख्यमंत्री केवल कार्यवाहक होंगे। अजमेर में एक बड़ी सभा को लेकर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान के अजमेर में चुनावी शंखनाद कर चुके हैं।

इस बीच शाम को बीजेपी की मार्बल नगरी में बड़ी बैठक आयोजित हुई। जिसमें सीएम राजे के अलावा प्रकाश जावडेकर, मदनलाल सैनी, चंद्रशेखर के अलावा तमाम सांसद, विधायक भी मौजूद रहे।