पंचायतीराज चुनाव 2020: सरकार के सामने चुनौतियां अनैक, कैसे होगा पंचायत समितियों का चुनाव?

panchayat chunav 2020
panchayat chunav 2020q

jaipur news

राजस्थान सरकार को सुप्रीम कोर्ट से भले ही पंचायतीराज चुनाव (panchayat chunav 2020) कराने की अनुमति मिल गई हो, किंतु इसके साथ ही सरकार के समक्ष चुनौतियां भी भरकस हैं। सरकार अप्रेल के आखिरी सप्ताह में ग्राम पंचायत की बची हुई 2074 सीटों पर और सभी पंचायत समितियां के लिए चुनाव होंगे।

हालांकि, सरकार इसके लिए अलग से कार्यक्रम घोषित करेगी, लेकिन फिर भी फरवरी, मार्च में बोर्ड परीक्षाएं होने के कारण अप्रेल के आखिरी सप्ताह में यह चुनाव होगा।

ग्राम पंचातय के लिए दो चरणों का चुनाव हो चुका है, जबकि तीसरे चरण का चुनाव 29 जनवरी को होगा। प्रदेश के 9171 ग्राम पंचायतों पर इसके साथ ही चुनाव सम्पन्न हो जाएगा। चौथे चरण के लिए बची हुई 2074 ग्राम पंचायतों के लिए चुनाव होंगे।

इसके साथ ही पंचायत समितियों के लिए भी चुनाव होने हैं। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और पंचायतीराज विभाग के मंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि पंचायत समितियों के चुनाव के लिए सुप्रीम कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद निर्वाचन विभाग को निर्देश दिए गए हैं।

किंतु इसके साथ ही अप्रेल तक पंचायत समितियों के लिए टिकटों का बंटावारा, उसके नोटिफिकेशन जैसे कई कार्य ऐसे हैं, जिनको करने में सरकार और राजनीतिक दलों को बहुत जोर आजमाइश करनी होगी।

ऐसा पहली बार हो रहा है कि ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों और जिला परिषद के चुनाव भी अलग अलग समय पर हो रहे हैं। नतीजा यह हो रहा है कि पंचायतीराज चुनाव को लेकर काफी असमंजश हो गया है।

इसी तरह से इस चुनाव को लेकर सरकार करीब आधी साल खत्म करने को आतुर नजर आ रही है। ऐसे में सरकार के समक्ष कार्य को करने की चुनौति भी बड़ा मुद्दा हो गया है। क्योंकि अधिकांश समय आचार संहिता में निकल रहा है।

यह भी पढ़ें :  प्रताप सिंह खाचरियावास गुंडागर्दी करते हैं, भूमाफिया हैं...राठौड़